Home » टेक्नोलोजी » बिटकॉइन क्या है?

बिटकॉइन क्या है?

आइये जानते हैं बिटकॉइन क्या है। कुछ समय पहले आप घर से बाहर निकलते समय वॉलेट में पैसे रखकर ले जाया करते थे, उसके कुछ वक़्त बाद आप कार्ड लेकर जाने लगे और अब तेज़ी से बदलती इस दुनिया में आप करेंसी का इस्तेमाल ऑनलाइन भी कर सकते हैं  जिसके लिए आपको ना कार्ड की जरुरत होगी, ना ही वॉलेट में रुपये लेकर चलने की।

इंटरनेट के ज़माने में इस्तेमाल होने वाली इस करेंसी का नाम है बिटकॉइन, जिसे कुछ समय पहले तक बहुत कम लोग जानते थे लेकिन आज हर किसी की जुबान पर इसी वर्चुअल करेंसी का नाम है। ऐसे में आप भी जानना चाहते होंगे बिटकॉइन क्या है। इसलिए आज हम इसी करेंसी के बारे में बात करते हैं।

बिटकॉइन क्या है?

बिटकॉइन एक डिजिटल या वर्चुअल करेंसी है जिसे डिजिटल वॉलेट में रखा जाता है और ओपन सोर्स होने के कारण इसका इस्तेमाल कोई भी कर सकता है। वर्चुअल करेंसी का मतलब ये है कि बिटकॉइन का इस्तेमाल करेंसी के रूप में हर कहीं किया जा सकता है लेकिन इसे आप देख या छू नहीं सकते।

इसे पैसे देकर ख़रीदे गए एक पॉइंट की तरह भी समझा जा सकता है जिसे आप अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करके अपने देश की करेंसी में कन्वर्ट करवा सकते हैं।

ये एक डिसेंट्रलाइज़्ड करेंसी है यानि इस पर नियंत्रण और निगरानी रखने के लिए कोई बैंक, अथॉरिटी या गवर्नमेंट नहीं है। इस ग्लोबल करेंसी का आविष्कार संतोषी नाकोमोटो ने 2009 में किया था।

बिटकॉइन की कीमत क्या है – बिटकॉइन की सबसे छोटी यूनिट संतोषी होती है और 1 बिटकॉइन = 10 करोड़ संतोषी होता है। जैसे 1 रुपये में 100 पैसे होते हैं वैसे ही 10 करोड़ संतोषी मिलकर 1 बिटकॉइन बनाते हैं और 1 बिटकॉइन को 8 डेसिमल तक ब्रेक करके इस्तेमाल किया जा सकता है यानि 0.0001 बिटकॉइन भी यूज किया जा सकता है।

READ  भारतियों द्वारा किये गए आविष्कार

बिटकॉइन की कीमत हमेशा एक जैसी नहीं रहती बल्कि घटती-बढ़ती रहती है और अभी बिटकॉइन की कीमत 4,33,939.86 इंडियन रूपये हैं।

बिटकॉइन को कहाँ इस्तेमाल कर सकते हैं-

  • ऑनलाइन शॉपिंग में
  • दुनिया में कहीं भी पैसे भेजने या रिसीव करने के लिए
  • पेमेंट करने के लिए
  • पैसे कमाने के लिए
  • बिटकॉइन को खरीदने के अलावा बेचा भी जा सकता है।

बिटकॉइन के फायदे क्या हैं-

  • बिटकॉइन एक्सचेंज करने की फीस कम लगती है।
  • इसे दुनिया में कहीं भी, बिना परेशानी खरीदा और बेचा जा सकता है।
  • इस पर सरकारी नियंत्रण नहीं होता है।

बिटकॉइन के नुकसान क्या है-

  • इस पर किसी अथॉरिटी, बैंक या गवर्नमेंट का कण्ट्रोल नहीं होने की वजह से इसकी कीमत फिक्स रहने की बजाये बढ़ती-घटती रहती है।
  • बिटकॉइन अकाउंट हैक होने की स्थिति में बिटकॉइन वापिस नहीं लिए जा सकते हैं।

बिटकॉइन को लोकल करेंसी से खरीदा जा सकता है और किसी सर्विस या चीज को बेचकर भी बिटकॉइन खरीदे जा सकते हैं। इसके अलावा किसी वेबसाइट या एप्लीकेशन के जरिये बिटकॉइन कमाए भी जा सकते हैं।

बिटकॉइन को जमा करने के लिए बिटकॉइन वॉलेट की जरुरत पड़ती है। बिटकॉइन खरीदते समय आपको उसका एक यूनिक एड्रेस दिया जाता है और उसके बाद आप बिटकॉइन वॉलेट में बिटकॉइन जमा कर सकते हैं।

दोस्तों, इस डिजिटल करेंसी के बारे में जानकर हो सकता है कि आप हैरान रह गए हों लेकिन अब इस वर्चुअल करेंसी के बारे में आप भी जानते हैं और इससे जुड़े नफा-नुकसान से भी आप परिचित हो गए हैं।

उम्मीद है जागरूक पर बिटकॉइन क्या है कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

READ  लैपटॉप खरीदने से पहले जानकारी

नकारात्मक सोच से छुटकारा कैसे पाएं?

जागरूक यूट्यूब चैनल

Leave a Comment