Home » सामान्य ज्ञान » अधिकतर छाते काले रंग के क्यों होते हैं?

अधिकतर छाते काले रंग के क्यों होते हैं?

आइये जानते हैं अधिकतर छाते काले रंग के क्यों होते हैं? चिलचिलाती धूप और बारिश से बचाव करने वाले छाते पहले सिर्फ काले रंग के ही हुआ करते थे लेकिन बदलते समय के साथ इसमें भी फैशन का प्रभाव दिखाई देने लगा और बाजार में बहुत से रंग और आकार के सुन्दर छाते आने लग गए जिन्हें बच्चों, महिलाओं और पुरुषों की जरुरत के अनुसार बनाया जाने लगा।

आज भले ही रंग-बिरंगी छतरियां खूबसूरत नज़र आती हैं लेकिन आपको ये जानकर हैरानी हो सकती है कि काले रंग का छाता खरीदना आपके लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद हो सकता है। ऐसे में आज आपको बताते हैं कि छाते का काला रंग आपको कैसे फायदा पहुंचा सकता है और अधिकतर छाते काले रंग के क्यों होते हैं।

अधिकतर छाते काले रंग के क्यों होते हैं?

काला रंग गर्मी को बहुत जल्दी अवशोषित कर लेता है और गर्मी को तेजी से उत्सर्जित भी कर देता है जबकि बाकी रंग ऐसा नहीं कर पाते हैं। बारिश के मौसम में काले रंग के छाते जल्दी सूख भी जाते हैं।

काला रंग गर्मी को हर दिशा में फैला देता है इसलिए काला छाता अंदर से सिल्वर कलर का बनाया जाता है ताकि छाते के अंदर गर्मी का प्रवेश ना हो सके। ये सिल्वर कलर सिल्वर मिरर की तरह काम करता है और गर्म किरणों को वापिस छाते से बाहर भेज देता है।

इतना ही नहीं, काले छाते का इस्तेमाल करके सूरज से आने वाली हानिकारक अल्ट्रा वॉयलेट किरणों से भी बचाव किया जा सकता है। काला छाता यूवी किरणों को स्किन तक पहुँचने नहीं देता है और अल्ट्रा वॉयलेट किरणों से 99% तक सुरक्षा प्रदान करता है।

हो सकता है कि अभी तक आप काले रंग के छाते को आउट ऑफ फैशन समझा करते हों लेकिन अब आप जान गए हैं कि काला छाता किस तरह धूप से आपकी स्किन की सुरक्षा कर सकता है इसलिए अगली बार छाता खरीदते समय काले रंग के छाते के बारे में ज़रूर सोचें।

उम्मीद है जागरूक पर अधिकतर छाते काले रंग के क्यों होते हैं कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल

Leave a Comment