डीजल इंजन का आविष्कार किसने किया?

आइये जानते हैं डीजल इंजन का आविष्कार किसने किया। आज के समय को रफ़्तार का समय कहना सही रहेगा क्योंकि सड़कों पर गाड़ियों को दौड़ते देखकर तो ऐसा ही लगता है कि आज का दौर स्पीड का दौर है और गाड़ियों में लगे इंजन की बदौलत ही ये गाड़ियां यहाँ से वहां दौड़ती दिखाई देती हैं।

इन गाड़ियों में एक गाड़ी आपकी भी जरूर होगी और उसमें या तो पेट्रोल इंजन होगा या फिर डीजल या गैस इंजन। ऐसे में आप भी इंजन से जुड़ी थोड़ी जानकारी जरूर रखते होंगे लेकिन क्या आप जानते हैं कि डीजल इंजन का आविष्कार किसने किया था?

ऐसे में आज आपको इंजन से जुड़ी थोड़ी जानकारी देने के साथ साथ आपको इसके आविष्कार के बारे में भी बताते हैं।

इंजन या मोटर एक ऐसी मशीन या डिवाइस होता है जो किसी भी प्रकार की एनर्जी को यांत्रिक ऊर्जा में रूपांतरित कर देता है। इंजन की इस यांत्रिक ऊर्जा (मैकेनिकल एनर्जी) का उपयोग कार्य करने के लिए किया जाता है। इंजन रासायनिक ऊर्जा, विद्युत् ऊर्जा, गतिज ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में बदलने का काम करता है।

उपयोग के आधार पर इंजन तीन तरह के होते हैं-

पेट्रोल इंजन – जिन इंजन में फ्यूल के लिए पेट्रोल का इस्तेमाल होता है उन्हें पेट्रोल इंजन कहा जाता है। ऐसे इंजन मोटरसाइकिल में होते हैं।

डीजल इंजन – जिस इंजन में फ्यूल के लिए डीजल का उपयोग होता है उसे डीजल इंजन कहते हैं। ऐसे इंजन बस, ट्रेक्टर जैसे वाहनों में लगे होते हैं।

गैस इंजन – जिस इंजन में फ्यूल के लिए गैस का इस्तेमाल किया जाता है उसे गैस इंजन कहा जाता है। जैसे CNG engine.

डीजल इंजन का आविष्कार

डीजल इंजन का आविष्कार रुडोल्फ डीजल ने किया था इसलिए उनके नाम पर ही इंजन के इस प्रकार का नाम डीजल इंजन रखा गया।

रुडोल्फ डीजल ने आतंरिक दहन इंजन (internal combustion engine) का आविष्कार किया और 1886 में उन्हें अपना पहला डिजाइन पेटेंट मिला। रुडोल्फ डीजल का ये आविष्कार उस समय सामने आया जब बड़ी इंडस्ट्रीज में बहुत बड़े स्तर पर स्टीम इंजन का इस्तेमाल होता था।

अब आप जान गए होंगे कि इंजन क्या होता है और डीजल इंजन का नाम डीजल इंजन क्यों पड़ा।

उम्मीद है जागरूक पर ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल