Home » रोचक तथ्य » ई मार्केटिंग क्या है?

ई मार्केटिंग क्या है?

आइये जागरूक पर जानते हैं ई मार्केटिंग क्या है। इस इंटरनेट वर्ल्ड में हर काम ऑनलाइन होने लगा है तो मार्केटिंग फील्ड में भी इंटरनेट का बोलबाला नज़र आने लगा है इसलिए ई मार्केटिंग (e-marketing) का प्रचलन बहुत बढ़ गया है। ऐसे में ई-मार्केटिंग से जुड़ी ख़ास बातें तो आपको भी जरूर जाननी चाहिए। तो चलिए, आज जानते हैं ई मार्केटिंग के बारे में।

ई मार्केटिंग क्या है?

ई मार्केटिंग का फुल फॉर्म ‘इलेक्ट्रॉनिक मार्केटिंग’ (Electronic Marketing) होता है। इसे डिजिटल मार्केटिंग, वेब मार्केटिंग, इंटरनेट मार्केटिंग और ऑनलाइन मार्केटिंग नामों से भी जाना जाता है। मार्केटिंग के इस एडवांस तरीके में बिजनेस को उसके कस्टमर्स से जोड़ने के लिए कई टेक्निक्स इस्तेमाल की जाती है। इस तरह की मार्केटिंग में इंटरनेट की मदद लेकर किसी प्रोडक्ट और सर्विस की मार्केटिंग की जाती है।

ई मार्केटिंग में ई मेल, वायरलेस मीडिया और मोबाइल, इंटरनेट के जरिये मार्केटिंग की जाती है। ई मार्केटिंग के बहुत से तरीके होते हैं जिनमें से अपने बिजनेस के अनुकूल तरीका अपनाना ही फायदेमंद होता है इसलिए ई मार्केटिंग करने से पहले इसके राइट मेथड को चुनना जरुरी होता है।

आइये, ई मार्केटिंग के प्रकारों के बारे में जानते हैं

ई मेल मार्केटिंग (Email Marketing):-

जब कोई भी कंपनी अपने प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग ई मेल के जरिये करती है तो इसे ई मार्केटिंग कहा जाता है। मार्केटिंग का ये तरीका सबसे आसान है इसलिए लगभग हर कंपनी अपने नए प्रपोजल्स और सेल से जुड़ी इनफार्मेशन अपने कस्टमर्स तक पहुँचाने के लिए ई मार्केटिंग का इस्तेमाल करती है।

READ  दुनिया की 10 सबसे बड़ी मस्जिद

सोशल मीडिया (Social Media Marketing):-

सोशल मीडिया ऐसा प्लेटफॉर्म है जहाँ हर कोई अपनी बात कह सकता है और बहुत से लोगों तक अपने थॉट्स पहुंचा सकता है। सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, लिंकडीन जैसी कई वेबसाइट्स से मिलकर बना है और इन वेबसाइट्स पर विज्ञापन देकर अपने प्रोडक्ट्स और सर्विसेज की मार्केटिंग बहुत सी कम्पनीज करती हैं।

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO):-

अपने प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग का एक बहुत अच्छा तरीका SEO करवाना है। ये ऐसी टेक्निक है जिससे आपकी बिजनेस वेबसाइट को सर्च इंजन के रिजल्ट्स में सबसे ऊपर जगह मिलती है। ऐसा होने पर आपकी वेबसाइट को विजिट करने वालों की संख्या भी बढ़ती जाती है जिससे बिजनेस का बढ़ना आसान हो जाता है।

यूट्यूब चैनल (YouTube Channel):-

अपने प्रोडक्ट्स की ई मार्केटिंग करने का सबसे इंटरेस्टिंग तरीका यूट्यूब चैनल होता है जिसमें आप वीडियो बनाकर अपने प्रोडक्ट्स के बारे में बता सकते हैं। इस प्लेटफॉर्म पर ग्रो करना आसान होता है क्योंकि ये एक पॉपुलर प्लेटफॉर्म है इसलिए यहाँ बहुत बड़ी संख्या में व्यूअर्स आपसे जुड़ सकते हैं।

ऐप्स मार्केटिंग (Apps Marketing):-

आजकल ऐप्स मार्केटिंग का चलन बहुत बढ़ गया है। ये डिजिटल मार्केटिंग का एक बहुत अच्छा तरीका है। आजकल सभी स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे में बड़ी – बड़ी कम्पनीज अपने ऐप्स बनाकर उन्हें लोगों तक पहुँचाती है और इन ऐप्स के जरिये अपने प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग करती है।

अफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing):-

जब ब्लॉग, वेबसाइट या लिंक के जरिये प्रोडक्ट्स का विज्ञापन किया जाता है तो उससे मेहनताना मिलता है, यही मेहनताना अफिलिएट मार्केटिंग कहलाता है। इसमें एक लिंक बनाकर अपना प्रोडक्ट उस लिंक पर डाला जाता है और जब कस्टमर वो लिंक प्रेस करके प्रोडक्ट खरीदता है तो उससे मेहनताना मिलता है।

READ  माउंट एवरेस्ट से जुड़े रोचक तथ्य

ई मार्केटिंग जैसी एडवांस टेक्निक के कुछ फायदे और नुकसान हैं। आइये इनके बारे में जानते हैं-

  • ई मार्केटिंग के जरिये अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन 24/7 किया जा सकता है और कस्टमर इसे किसी भी समय खरीद भी सकता है।
  • ई मार्केटिंग में ई मेल के जरिये अपने रजिस्टर्ड कस्टमर्स को आसानी से अपडेट दी जा सकती है।
  • इंटरनेट पर अपने प्रोडक्ट और सर्विसेज का विज्ञापन करने में बहुत ज्यादा खर्चा नहीं होता है।

ई मार्केटिंग के कुछ नुकसान भी हैं जैसे-

अगर आप अपने बिजनेस के लिए एक बड़ा एड कैम्पेन चलाना चाहते हैं तो आपको एक बड़े स्तर पर खर्चा करना होगा क्योंकि वेबसाइट डिजाइन और सॉफ्टवेयर डवलप करवाने जैसे बहुत से कामों में बहुत पैसा खर्च होता है।

दोस्तों, ई मार्केटिंग बिजनेस को प्रमोट करने का एक आसान, इंटरेस्टिंग और इनोवेटिव तरीका है जिसे सभी को आज़माना चाहिए और अपने बिजनेस की जरुरत के हिसाब से ई मार्केटिंग का सही प्रकार चुनकर अपने बिजनेस को प्रमोट करना चाहिए।

जागरूक टीम को उम्मीद है ई मार्केटिंग क्या है (What is e marketing) कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए यूजफुल भी साबित होगी।

डिजिटल मार्केटिंग में पीपीसी क्या है?

Leave a Comment