Home » स्वास्थ्य » एनिमा क्या है?

एनिमा क्या है?

आइये जानते हैं एनिमा क्या है (enema kya hai)। कब्ज की समस्या बहुत लोगों को रहती है और जब ये समस्या बहुत बढ़ जाती है तो एनिमा से राहत दिलाने का विकल्प ही रह जाता है। इस प्रक्रिया में कब्ज से पीड़ित व्यक्ति के गुदा द्वार के जरिये निचली आंत में तरल पदार्थ इंजेक्ट किया जाता है। ऐसे में इस क्रिया के बारे में आपको भी जानकारी होनी चाहिए इसलिए आज हम एनिमा के बारे में जानते हैं।

एनिमा क्या है? (enema kya hai)

एनिमा क्रिया के माध्यम से, पचे हुए भोजन में से पानी निकालने और मल बनने की प्रक्रिया में पाचन क्रिया को सहयोग दिया जाता है। ये तरल पदार्थ ठोस मल को नरम करता है और एनिमा नोजल गुदा द्वार को ढ़ीला कर देता है। ऐसा होने पर आंत में हलचल होती है और सारा अपशिष्ट पदार्थ आसानी से बाहर आ जाता है।

डॉक्टर द्वारा एनिमा का सुझाव कब दिया जा सकता है?

  • लम्बे समय से कब्ज रहने पर
  • ठोस या शुष्क मल होने पर, जिसे त्यागने में मुश्किल होती है
  • बहुत अधिक गैस और पेट फूलने की समस्या होने पर
  • आंत में सूजन या खून बहने की स्थिति में

कब्ज की समस्या को दूर करने के अलावा, आंत सम्बन्धी कुछ बीमारियों की जांच करने के लिए भी डॉक्टर द्वारा एनिमा का सुझाव दिया जा सकता है।

एनिमा कितने प्रकार का होता है? (enema ke prakar)

चिकित्सकीय एनिमा:– इस क्रिया से कब्ज से राहत मिलती है और आंत/गुदा साफ होती है।

डायग्नोस्टिक एनिमा:– पेट दर्द, रक्तस्राव और अल्सरेटिव कोलाइटिस सहित आंत और गुदा की समस्याओं का पता लगाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।

READ  हड्डियां कमजोर क्यों हो जाती है?

एनिमा क्रिया में इस्तेमाल होने वाले तरल पदार्थ के प्रकार के अनुसार भी एनिमा के कुछ प्रकार होते हैं-

फ्लीट्स फोस्फोसोडा एनिमा:– इस क्रिया में आँतों में पानी बनाये रखने के लिए सोडियम फास्फेट सॉल्ट का उपयोग किया जाता है। ये कब्ज के लिए सबसे उपयोगी एनिमा है।

मिनरल ऑयल एनिमा:- इस प्रकार के एनिमा से ठोस मल को त्यागना आसान हो जाता है क्योंकि ये एनिमा आंत में लुब्रिकेंट्स की तरह कार्य करता है।

सलाइन सॉल्यूशन एनिमा:- आमतौर पर ये एनिमा गर्म पानी में नमक डालकर बनाया जाता है और इसे घर पर भी बनाया जा सकता है।

दूध और गुड़:– दूध और गुड़ की बराबर मात्रा मिलाकर बनाया गया ये एनिमा लेने से दूध और गुड़ में मौजूद शुगर आँतों में रह जाती है और ठोस मल को नरम कर देती है जिससे मल त्यागना आसान हो जाता है। इसे घर पर बनाया जा सकता है।

एनिमा के फायदे क्या है? (enema ke fayde)

  • ये एक प्राकृतिक और सुरक्षित प्रक्रिया है।
  • इस क्रिया से रक्त परिसंचरण तंत्र में सुधार होता है।
  • ये क्रिया अनिद्रा में राहत प्रदान करती है।
  • इस क्रिया से ऊर्जा बढ़ती है।
  • इस क्रिया की मदद से आँतों से अपशिष्ट पदार्थ बाहर निकाले जाते हैं।
  • ये क्रिया चयापचय को सही तरीके से शुरु करने में सहायक हो सकती है।
  • इस क्रिया से पेट फूलने की समस्या कम होती है।

एनिमा के नुकसान क्या है? (enema ke nuksan)

  • एनिमा क्रिया अगर किसी विशेषज्ञ के निर्देशों के बिना की जाये तो गुदा द्वार में छेद हो सकता है।
  • एनिमा क्रिया से उलटी, मतली और दस्त जैसे साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं।
READ  किडनी फंक्शन टेस्ट क्या है?

एनिमा और इसके प्रकारों के साथ-साथ इससे मिलने वाले फायदे और नुकसान (enema kya hai, enema ke prakar, enema ke fayde, enema ke nuksan) की जानकारी अब आपके पास है। ये लेख केवल जानकारी के लिए है और ये चिकित्सा सलाह नहीं है। अपने चिकित्सक से सलाह अवश्य लें। जागरुक टीम को उम्मीद है कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए उपयोगी भी साबित होगी।

ग्लूटेन क्या है?

अधिक जानकारी के लिए ये भी देखें:

Enema in Hindi