गुटखा और तम्बाकू कैसे छोड़ें?

3

हम सभी जानते हैं कि तम्बाकू और गुटखा खाना सेहत के लिए घातक हो सकता है और इनके लगातार सेवन से शरीर का हर अंग प्रभावित होता है और कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी भी हो जाती है। ये सब जानने के बाद भी तम्बाकू और गुटखा खाने वाले लोग आख़िर इसे छोड़ क्यों नहीं पाते हैं जबकि इनके पैकेटों पर भी स्वास्थ्य सम्बन्धी चेतावनी लिखी होती है।

ऐसे में ये जानना जरुरी है कि अगर कोई व्यक्ति जो तम्बाकू और गुटखा का बहुत अधिक सेवन करता आया है और अब इसके सेवन को छोड़ना चाहता है तो इसके लिए उसे क्या करना चाहिए।

गुटखा और तम्बाकू छोड़ने के तरीके

सबसे पहले उन कारणों को जानिए जिनकी वजह से व्यक्ति को तुरंत तम्बाकू का सेवन रोक देना चाहिए-

  • इनके सेवन से मुँह, गले, आहारनली और पेट का कैंसर हो सकता है।
  • इनका सेवन दिल से जुड़ी बीमारियां ला सकता है।
  • तम्बाकू और गुटखा खाने से दांत और मसूड़े ख़राब हो सकते हैं।

गुटखा खाने के नुकसान

इन बिंदुओं से स्पष्ट है कि तम्बाकू खाने से सेहत सम्बन्धी कोई फायदा नहीं होता है बल्कि शरीर को बहुत सी जानलेवा और दर्दनाक बीमारियां घेर लेती हैं जिनमें से कई रोगों का तो कोई इलाज संभव ही नहीं होता है।

तम्बाकू केवल सेहत के साथ खिलवाड़ है, ये जानने के बाद अब जानते हैं इसे छोड़ने के तरीके के बारे में-

तम्बाकू और गुटखा छोड़ने के लिए एक निश्चित समय तय करें

  • किसी भी पुरानी आदत को छोड़ना आसान नहीं होता है लेकिन अगर हमें ये पता हो कि वो आदत हमारे लिए घातक हो सकती है तो उसे तुरंत छोड़ा भी जा सकता है और नयी अच्छी आदत से बदला भी जा सकता है इसलिए सबसे पहले खुद से वादा करिये कि आप इस आदत को जल्द से जल्द छोड़ देंगे क्योंकि ये आपके और आपके परिवार के लिए नुकसानदेह है।
  • अब एक निश्चित समय तय करें जब आप इस आदत को पूरी तरह छोड़ देंगे। गुटखा खाने की आदत तुरंत नहीं छूट सकती है इसलिए ऐसा प्लान ना बनाएं जो बनते ही टूट जाये और आप निराश हो जाएँ। इस दौरान खुद के साथ ज्यादा सख़्ती ना बरतें क्योंकि ऐसा करने पर आप निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर पाएंगे और वापिस पुरानी आदत की ओर लौट जाएंगे।
  • अपनी लत के अनुसार 1 हफ्ते या 1 महीने का समय तय करें जिसमें रोज़ इनके सेवन की मात्रा को कम करते जाएँ। धीरे-धीरे आखिरी दिनों तक आते-आते इनके सेवन की मात्रा एकदम कम हो जाएगी और आप निश्चित समय पर इन व्यसनों को त्याग सकेंगे।
  • ऐसी संगत भी छोड़ दें, जो आपको तम्बाकू खाने के लिए प्रेरित करती हो।
  • ऐसे लोगों के बीच रहें जो आपका हित चाहते हों और तम्बाकू खाने की तीव्र इच्छा होने पर आपका ध्यान दूसरी चीज़ों में लगा सकें ताकि आपका ध्यान तम्बाकू से हट जाये।

तम्बाकू छोड़ने के बाद क्या करना चाहिए?

तम्बाकू छोड़ना कोई आसान काम नहीं है लेकिन ये बहुत मुश्किल भी नहीं है। एक बार तय समय पर तम्बाकू छोड़कर आप खुद को ये यकीन दिला सकते हैं कि आप किसी भी बुरी आदत को दूर कर सकते हैं। इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा।

अपनी जीवनशैली में सकारात्मक बदलाव लाकर आप इस बदलाव को आसानी से अपना सकते हैं-

  • इसके लिए आप एक्सरसाइज करना शुरू कर सकते हैं।
  • दिनभर में पर्याप्त पानी पीने की आदत डालें।
  • तम्बाकू छोड़ने के बाद कुछ समय के लिए आप च्युइंगम चबा सकते हैं।

बुरी आदत को जितना जल्दी छोड़ दिया जाये उतना ही बेहतर होता है इसलिए तम्बाकू और गुटखा के सेवन जैसी बुरी लत को भी जल्द से जल्द योजना बनाकर छोड़ देना ही बेहतर होता है।

अब आपके पास ये जानकारी आ गयी है कि किस तरह तम्बाकू-गुटखा सेहत से खिलवाड़ करते हैं और इन्हें किस तरह छोड़ा जा सकता है इसलिए पक्के इरादे के साथ कोशिश करते रहनी चाहिए क्योंकि कोशिश करने वालों की हार नहीं होती।

जागरूक टीम को उम्मीद है कि ये जानकारी तम्बाकू और गुटखा सेवन से दूरी बनाने में सहयोगी साबित हो सकेगी।

जागरूक यूट्यूब चैनल