Home » स्वास्थ्य » कब्ज से होने वाले रोग

कब्ज से होने वाले रोग

आइये जानते हैं कब्ज से होने वाले रोग के बारे में। आज कब्ज की समस्या इतनी आम हो चुकी है कि इसकी गंभीरता को कोई नहीं स्वीकारना चाहता। सभी के लिए ये एक सामान्य बात होकर रह गयी है जबकि वास्तविकता ये है कि कब्ज की समस्या शरीर को खोखला बना सकती है क्योंकि इस छोटे से दिखने वाले रोग से बहुत से भयंकर रोग भी हो सकते हैं।

कहा जाता है कि जिस व्यक्ति का पेट स्वस्थ नहीं है, उस व्यक्ति की सेहत ख़राब है। ऐसा कहने के पीछे कारण ये होता है कि पाचन कमजोर होने की स्थिति में पोषक तत्व शरीर को पूरी तरह नहीं मिल पाते हैं और जब शरीर को पूरा पोषण नहीं मिलेगा तो शरीर स्वस्थ कैसे रह सकता है यानी उसका बीमार रहना स्वाभाविक है।

ऐसे में आपको भी ये जानना चाहिए कि कब्ज क्यों होता है और इससे कौन-कौन से रोग हो सकते हैं। तो चलिए, आज आपको बताते हैं कब्ज से होने वाले रोगों के बारे में।

कब्ज से होने वाले रोग

सबसे पहले जानते हैं कि कब्ज क्या है?

कब्ज पाचन तंत्र से जुड़ा एक रोग है जिसमें पाचन तंत्र सही तरीके से काम नहीं करता है और मल त्याग करने में कठिनाई आती है। ऐसे में पेट सही से साफ नहीं होने के कारण दिनभर भारीपन महसूस होता है और हर काम में अरुचि होने लगती है।

कब्ज होने के कारण क्या होते हैं?

  • पानी की पर्याप्त मात्रा का सेवन ना करना
  • नियमित रूप से व्यायाम नहीं करना
  • आहार में फाइबर की कमी होना
  • ज्यादा चिकनाई और वसायुक्त आहार लेना
  • आँतों से जुड़ा कोई रोग होना

कब्ज से कौनसे रोग पैदा हो सकते हैं?

  • हर्निया – मल त्याग के समय ज्यादा जोर लगाने से हर्निया जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है।
  • पेट का कैंसर – लम्बे समय तक कब्ज रहने पर पेट का कैंसर होने का ख़तरा भी बढ़ सकता है।
  • आईबीएस आंत्र सिंड्रोम – कब्ज से पीड़ित कुछ लोगों को ये सिंड्रोम भी हो जाता है जिसमें आंत्र में खुजली, जलन होती है।
  • अतिसार – अतिसार या डायरिया कब्ज से होने वाली समस्या है जिसमें बार-बार मल त्याग करने की जरुरत महसूस होती है और मल बहुत पतला होता है।
  • गैस्ट्रिक प्रॉब्लम – कब्ज की समस्या अपने साथ गैस्ट्रिक प्रॉब्लम भी लेकर आती है।
  • बवासीर – लम्बे समय तक कब्ज रहने की स्थिति में बवासीर की समस्या हो जाती है जिसमें गुदा के मुख पर मस्से हो जाते हैं जो मल त्याग में तकलीफ पैदा करते हैं।
  • डिप्रेशन – कब्ज केवल शारीरिक समस्याएं ही नहीं लेकर आता है बल्कि मानसिक विकार भी कब्ज से बढ़ सकते हैं जैसे- डिप्रेशन। कब्ज अगर 2 साल पुरानी हो जाये तो डिप्रेशन भी ला सकती है। डिप्रेशन में व्यक्ति को अकेले वक्त बिताना पसंद आता है, किसी भी काम में मन नहीं लगता, भूख कम हो जाती है और नींद बढ़ जाती है।

अब आप समझ गए होंगे कि कब्ज रहना कोई सामान्य बात नहीं है बल्कि कब्ज रोगों का ठिकाना होता है क्योंकि इस रोग में पाचन तंत्र कमजोर हो जाता है और ये तो आप जान ही गए हैं कि कमजोर पाचन शरीर को कितना नुकसान पहुंचा सकता है इसलिए इसी समय से कब्ज को सामान्य समझना छोड़ दीजिये।

अगर आप इससे ग्रस्त हैं तो अपनी जीवनशैली में पौष्टिक आहार और व्यायाम को शामिल कर लीजिये। ऐसा करके आप बहुत जल्द राहत का अनुभव करेंगे।

जागरूक टीम को उम्मीद है कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और स्वस्थ बने रहने में सहयोगी भी साबित होगी।

जागरूक यूट्यूब चैनल