Home » विज्ञान » खाली कमरे में आवाज गूंजती क्‍यों है?

खाली कमरे में आवाज गूंजती क्‍यों है?

आइयें जानते है की खाली कमरे में आवाज गूंजती क्‍यों है। आपने कभी न कभी अपने जीवन में यह अनुभव जरूर किया होगा की जब कमरा खाली होता है तो उसमें हमारी आवाज गूंजने लगती है। कुछ लोगों के लिए यह अनुभव करना मनोरंजन का पात्र बनता है और कुछ लोग यह भी कहकर अपने मन को समझाते हैं की “जोर से मत बोलो दीवारों के भी कान होते हैं”।

आज हम आपके साथ यह जानकारी साझा करने जा रहे हैं की खाली कमरे में आवाज गूंजती है जबकि भरे कमरे में ऐसा क्यों नहीं होता है।

किस कारण से खाली कमरे में आवाज गूंजती है?

भरे कमरे में लगे कालीन, फर्नीचर, पेंटिंग, आदि सभी ध्वनि को अवशोषित करते हैं परन्तु कठोर दीवारें, छत और फर्श यह सब ध्वनि के अच्छे परावर्तक होते हैं। जब कमरे में सामान होता है तो वह आवाज या ध्‍वनि को अवशोषित कर लेते है और आवाज हमारे तक नहीं आने देते हैं।

लेकिन जब कमरा खाली होता है अच्छे परावर्तक के कारण आवाज खाली दीवारों से टकराकर हमारे पास वापस आ जाती है, इसकी वजह से हमें आवाज गूंजती हुई प्रतीत होती है।

भरे कमरे में आवाज गूंजती क्‍यों नहीं है?

ध्वनि एक प्रकार की ऊर्जा है। जब यह कमरे में उपस्तिथ किसी फर्नीचर या परदे से टकराती है तो यह ध्वनि अवशोषित हो जाती है जिसकी वजह से भरे कमरे में हमारी आवाज गूंजती नहीं है।

उम्मीद है जागरूक पर ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी। आगे भी हम आपके बीच में इसी प्रकार की रोचक जानकारी जागरूक के माध्यम से लाते रहेंगे।