Home » क्या कैसे » क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में क्या अंतर है?

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में क्या अंतर है?

आइये जानते हैं कि क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड क्या होते हैं, इनमें क्या समानताएं होती हैं और ये एक दूसरे से किस तरह अलग हैं (debit card aur credit card mein kya antar hai)। कार्ड से पेमेंट (card payment) करने के इस ज़माने में हर कोई अपने साथ कार्ड लेकर ही घर से बाहर निकलता है ताकि जहाँ पैसों की ज़रूरत हो वहां तुरंत अपने कार्ड से पेमेंट कर दें।

इन कार्ड्स के इस्तेमाल से बहुत सारे पैसे साथ में लेकर चलने के रिस्क से राहत भी मिली है और इन्हें इस्तेमाल करना भी इतना आसान है कि हर कोई इन्हें यूज़ करना पसंद करता है।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के बीच क्या अंतर होता है? इन दोनों कार्ड्स को हम अक्सर एक जैसा मानने की ग़लती कर बैठते हैं जबकि इनमें जमीन-आसमान का फर्क होता है। ऐसे में इन दोनों कार्ड्स के अंतर को समझ लेना फायदेमंद साबित होगा।

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में क्या अंतर है? (debit card aur credit card mein kya antar hai)

डेबिट कार्ड (debit card) – डेबिट कार्ड के माध्यम से आप अपने करंट या सेविंग अकाउंट से ही पैसे निकाल सकते हैं। इस कार्ड का इस्तेमाल करके आप जितने रुपयों का ट्रांजेक्शन करते हैं उतने रुपये आपके खाते से डेबिट हो जाते हैं और आप रुपयों का ट्रांजेक्शन जिस व्यक्ति को करते हैं उसके खाते में उतनी राशि क्रेडिट हो जाती है।

क्रेडिट कार्ड (credit card) – क्रेडिट कार्ड के माध्यम से पेमेंट करने पर, बैंक आपको कुछ समय के लिए उतनी राशि उधार देता है जितनी आपने अपने क्रेडिट कार्ड से चुकाई होती है।

क्रेडिट कार्ड से चुकाई जाने वाली राशि की लिमिट, बैंक आपके आर्थिक आधार के अनुसार तय करता है और इस राशि पर आपको तय ब्याज देना होता है। ये रकम 5 हजार से शुरू होकर कितनी भी हो सकती है।

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में समानताएं (debit card and credit card similarities)–

  • ये दोनों ही कार्ड वित्तीय लेन देन को आसान बनाते हैं।
  • इन दोनों कार्ड्स की सेवाएं किसी ना किसी बैंकिंग माध्यम से ही मिलती है।
  • दोनों ही कार्ड्स दिखने में एकसमान होते हैं क्योंकि इनका रंग-रूप, आकार एक जैसा ही होता है।
  • दोनों कार्ड्स को पेमेंट ऑप्शन की तरह इस्तेमाल किया जाता है और इनके इस्तेमाल करने का तरीका भी लगभग एक समान ही है।

अब जानते हैं क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में अंतर (debit card aur credit card mein antar)–

  • डेबिट कार्ड के ज़रिये आप अपने अकाउंट से ही पैसे निकालते हैं जबकि क्रेडिट कार्ड के ज़रिये आप बैंक से उधार लेते हैं।
  • डेबिट कार्ड से निकाली गयी रकम पर ब्याज नहीं देना होता है जबकि क्रेडिट कार्ड से निकाली गयी रकम पर ब्याज देना होता है।
  • डेबिट कार्ड पर बैंक द्वारा लगने वाला सर्विस चार्ज सामान्य तौर पर क्रेडिट कार्ड की तुलना में कम होता है।
  • डेबिट कार्ड सिर्फ आपके देश में ही स्वीकार्य होते हैं जबकि क्रेडिट कार्ड पूरी दुनिया में समान रूप से इस्तेमाल होते हैं।
  • डेबिट कार्ड के ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की लिमिट आपके अकाउंट में मौजूद रकम होती है जबकि क्रेडिट कार्ड की लिमिट आपका बैंक तय करता है।

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के बीच का अंतर जान लेने के बाद, ये जान लेना भी बेहतर होगा कि इन कार्ड्स के इस्तेमाल के दौरान क्या-क्या सावधानियां रखनी चाहिए–

  • अपने कार्ड पर लिखे हुए नंबर की सीरीज किसी से भी साझा नहीं करें।
  • अपने कार्ड का पासवर्ड किसी को भी ना बताये।
  • अगर आप ऑनलाइन फ्रॉड से बचना चाहते हैं तो अपने कार्ड का पासवर्ड थोड़े-थोड़े दिन में बदलते रहें।
  • किसी भी स्टोर पर कार्ड से ट्रांजेक्शन करने के बाद, रसीद ज़रूर लें।
  • ऐसे एटीएम का इस्तेमाल करने से बचे जो सुनसान स्थान पर हो और जहाँ चौकीदार ना हो। अक्सर ऐसे एटीएम हैकर्स के निशाने पर होते हैं।
  • ऐसी साइट्स का उपयोग ना करे जो एचटीटीपीएस से शुरू होने की बजाए एचटीटीपी से शुरू हो रही हों।

अब आप क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के बीच की समानताएं और इनके बीच का फर्क जान चुके हैं लेकिन ये भी ध्यान रखिये कि हर सुविधा अपने साथ सावधानी लेकर आती है।

इसलिए ज़रूरत के अनुसार अपने कार्ड का उपयोग करिये और अगर आप कैशलेस ट्रांजेक्शन (cashless transaction) का लम्बे समय तक, बिना किसी नुकसान के फायदा उठाना चाहते हैं तो इनके इस्तेमाल के दौरान सावधानी भी रखिये।

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में क्या अंतर है

उम्मीद है जागरूक पर क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में क्या अंतर है (debit card aur credit card mein kya antar hai, difference between credit card and debit card in hindi) कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

पीने के पानी का टीडीएस कितना होना चाहिए?

जागरूक यूट्यूब चैनल