Home » सामान्य ज्ञान » एलपीजी में गंध का कारण क्या है?

एलपीजी में गंध का कारण क्या है?

आइये जानते हैं एलपीजी में गंध का कारण क्या है (lpg me gandh ka karan)। द्रवित पेट्रोलियम गैस (एलपीजी / Liquefied Petroleum Gas) को रसोई गैस के रूप में भी जाना जाता है। एलपीजी में मुख्यतः ब्यूटेन और प्रोपेन गैसें पायी जाती हैं। आपके रसोई में इस्तेमाल किये जाने वाले सिलेंडर में एलपीजी गैस का उपयोग किया जाता है।

आमतौर पर द्रवित पेट्रोलियम गैस (एलपीजी) कुछ वाहनों में ईंधन के रूप में, घरों में खाना पकाने में और गरम करने वाले उपकरणों में प्रयुक्त होती है।

ज्यादातर हम यह जानने के लिए उत्सुक होते हैं की एलपीजी में गंध क्यों आती है इसका क्या कारण है तो आज हम आपको जागरूक के माध्यम से ये जानकारी साझा करने जा रहे हैं की आखिर द्रवित पेट्रोलियम गैस यानि एलपीजी गैस में गंध का कारण क्या है।

एलपीजी में गंध का कारण क्या है? (lpg me gandh ka karan)

एलपीजी गैस प्राकृतिक रूप से रंगहीन और गंधरहित होती है, इसलिए रिसाव (लीक होने) का पता लगाने के लिए इसमें गंधक पदार्थ मिलाये जाते हैं। एलपीजी में गंध के लिए सल्फर गैस के यौगिक (मिथाइल मरकॉप्टेन) को मिलाया जाता है। एलपीजी में गंध का कारण मिथाइल मरकॉप्टेन होता है।

एलपीजी गैस की विशेषताएं (lpg gas properties)

  • एलपीजी गैस हवा से दुगुनी भारी होती है और पानी से आधा गुना भारी होती है।
  • एलपीजी रंगहीन और गंधरहित होती है इसलिए रिसाव का पता लगाने के लिए एलपीजी गैस में सल्फर गैस के यौगिक (मिथाइल मरकॉप्टेन) गंधक पदार्थ मिलाये जाते हैं।
  • द्रवित पेट्रोलियम गैस को 1:250 के अनुपात में संकुचित किया जा सकता है जिससे उसे द्रव्य रूप में सुवाह्य पात्रों में भरा जा सके।
  • एलपीजी से ज्वाला के तापमान को तत्काल रूप से नियंत्रण में लाया जा सकता है।
  • एलपीजी गैस विभिन्न अनुप्रयोगों के लिए प्रयोग में लायी जा सकती है।
  • एलपीजी गैस का कैलोरिफिक मान 94 MJ/m3 (26.1kWh/m³) होता है।

उम्मीद है की आपको जागरूक पर lpg gas me gandh ka karan कि ये जानकारी पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद साबित हुई होगी।

References:

एलपीजी के बारे में