Home » रोचक तथ्य » मधुमक्खियों से जुड़े रोचक तथ्य

मधुमक्खियों से जुड़े रोचक तथ्य

आइये जानते हैं मधुमक्खियों से जुड़े रोचक तथ्य। मधुमक्खियों से हमे शहद मिलता है और शहद स्वादिष्ट होने के साथ साथ हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। शहद का इस्तेमाल कई दवाइयों को बनाने के लिए भी किया जाता है।

दुनिया भर में मधुमक्खियों की कई अलग अलग प्रजातियां पाई जाती हैं लेकिन क्या आपको पता है सभी मधुमक्खियां शहद नहीं देती। आज हम आपको मधुमक्खियों से जुड़े कुछ ऐसे ही रोचक तथ्यों के बारे में बताएँगे।

मधुमक्खियों से जुड़े रोचक तथ्य

1. मधुमक्खियों की आँखों में एक दो नहीं बल्कि कई हजार लेंस लगे होते हैं।

2. मधुमक्खी उड़ते समय एक सेकंड में 200 से भी ज्यादा बार अपने पंख फड़फड़ाती है।

3. मधुमक्खियों को शहद बनाने में काफी मेहनत करनी पड़ती है, आपको आश्चर्य होगा की 1 चम्मच जितना शहद बनाने में मधुमक्खियों को हजारों की संख्या में फूलों से रस एकत्रित करना पड़ता है।

4. दुनिया भर में 20 हजार से भी ज्यादा प्रजातियों वाली मधुमक्खियों मौजूद हैं।

5. सभी प्रजातियों की मधुमक्खियां ना डंक मारती हैं और ना शहद बनाती हैं।

6. एक छत्ते में 30 हजार से 60 हजार तक मधुमक्खियां रहती हैं और गर्मियों के मौसम में ये प्रतिदिन करीब 1500 तक अंडे देती हैं।

7. शहद इकलौता ऐसा खाद्य पदार्ध है जो सैंकड़ों सालों तक भी खराब नहीं होता।

8. मधुमक्खियों के एक छत्ते में 90% तक सिर्फ मादा मधुमक्खियां ही होती हैं।

9. मधुमक्खी इकलौती ऐसी जीव है जिसके द्वारा बनाया गया पदार्थ इंसान खाता है।

10. नवजात शिशु को शहद नहीं खिलाना चाहिए नहीं तो उसे लकवा मारने की सम्भावना हो सकती है।

उम्मीद है जागरूक पर मधुमक्खियों से जुड़े रोचक तथ्य कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

नकारात्मक सोच से छुटकारा कैसे पाएं?

जागरूक यूट्यूब चैनल

4 thoughts on “मधुमक्खियों से जुड़े रोचक तथ्य”

  1. मधुमक्खियों में की कई तरह की जातियाँ पाई जाती है और इन्ही में से कुछ जातियों की मधुमक्खियां छत्तों में रहती हैं, लेकिन कुछ तरह की मधुमक्खियाँ शहद और मोम के लिए मनुष्यों द्वारा पाली जाती हैं। मधुमक्खियाँ मोम से छः कोनोंवाले खाने , अपने छत्ते में बनाती है मोम बनाने के लिए मधुमक्खियों के पेट पर ग्रंथियाँ पाई जाती हैं जिनकी सहायता से वह छतों को निर्माण करती है।

  2. प्रत्येक छत्ते में तीन तरह की मधुमक्खियाँ पाई जाती हैं। एक मादा मक्खी जो की ‘रानी’ कहलाती है। इस मादा मक्खी का काम केवल गर्भ धारण करके अंडे देना ही है। यह मादा मक्खी दिन में करीब दो हजार अंडे दे सकती है। प्रत्येक छत्ते में एक ही रानी मक्खी होती है। छत्ते में दूसरी जाति नर मक्खियों की पाई जाती है, जिनका काम केवल रानी मक्खी को गर्भ धारण कराना होता है। और तीसरे वर्ग मे वे साधारण मक्खियाँ आती हैं जो फलों का रस पीकर उन्हें शहद या मधु के रूप में छत्तो में जमा करती हैं।

Comments are closed.