Home » टेक्नोलोजी » मैलवेयर क्या है?

मैलवेयर क्या है?

Spread the love

आइये जानते हैं मैलवेयर क्या है। आजकल इंटरनेट हमारे लिए एक बहुत ही आसान जरिया बन गया है और हम यही भरोसा करना चाहते हैं कि इंटरनेट हर व्यक्ति के लिए एक सुरक्षित माध्यम है लेकिन इस बात में कोई संदेह नहीं है की कई हैकर्स हमारे ऑनलाइन डाटा को चुराने में लगे रहते हैं और उस डाटा का गलत तरीके से इस्तेमाल करते हैं।

हैकर्स द्वारा कंप्यूटर को नुक्सान पहुँचाने के लिये मैलवेयर को बनाया जाता है। आज हम आपको जागरूक के माध्यम से मैलवेयर होता क्या है, मैलवेयर अटैक कैसे होता हैं तथा इससे कैसे बचा जा सकता है ये जानकारी देने जा रहे हैं चलिए विस्तार से जानते हैं।

मैलवेयर क्या है?

मैलवेयर द्वारा हमारे कंप्यूटर में रखे डाटा को नुकसान पहुँचाया जाता है। मैलवेयर एक प्रकार का सॉफ्टवेयर प्रोग्राम होता है जो की हैकर्स की टीमों द्वारा बनाया जाता है जिससे वो आपका पर्सनल डाटा चुराना, आपका पासवर्ड चुराना या आपके कंप्यूटर के डाटा को डिलीट कर देना इत्यादि करते हैं।

हैकर्स की भाषा में मैलवेयर टर्म का यूज वायरस, ट्रोजन और स्पाइवेयर आदि के लिए किया जाता है। हैकर्स मैलवेयर से हार्ड डिस्क पर मौजूद प्रत्येक चीज़ को हटा सकते हैं।

मैलवेयर के जरिए हैकर्स आपके पर्सनल फोटो, वीडियो, बैंक अकाउंट और भी महत्वपूर्ण जानकारी चुरा कर एक डिवाइस से किसी दूसरी डिवाइस में ट्रांसफर कर सकते हैं।

मैलवेयर अटैक के कारण क्या क्या हो सकते हैं?

डाउनलोडिंग से भी होते हैं मैलवेयर अटैक– आजकल इंटरनेट इतना सस्ता है की हर कोई व्यक्ति इंटरनेट के माध्यम से बड़े ही आसानी से मूवी, वीडियो को डाउनलोड कर लेता है। बिना सावधानी के ज्यादा डाउनलोडिंग करना भी मैलवेयर अटैक के कारण बन सकते हैं।

इंटरनेट से हम जो कंटेंट जैसे पिक्चर, वीडियो या गाने को जब भी डाउनलोड करते हैं तो उनके जरिए मैलवेयर के वायरस बड़ी आसानी से हमारे सिस्टम तक आ जाते हैं और हमें पता ही नहीं चल पाता की हमारे डाटा सुरक्षित नहीं हैं।

रिमूवेबल डिवाइस का उपयोग करने से मैलवेयर अटैक होना– कई बार कंप्यूटर और लैपटॉप में लगाई जाने वाली रिमूवेबल डिवाइस भी मैलवेयर की वजह बन जाती है।

पेन ड्राइव या मेमोरी कार्ड में यदि पहले से वायरस हैं और आप उसी पेन ड्राइव या मेमोरी कार्ड को सिस्टम में लगाते हैं तो यह आपके सिस्टम के लिए खतरनाक साबित हो सकता है इससे आपका डाटा पूरा डिलीट भी हो सकता है।

मैलवेयर से कैसे बच सकते हैं?

डाउनलोडिंग केवल विश्वसनीय वेबसाइट से करने की कोशिश करें– जब भी आप गानें या पिक्चर को डाउनलोड करते हैं तो कोशिश करें की जिस वेबसाइट से आप डाउनलोड कर रहे हैं वह विश्वसनीय वेबसाइट होनी चाहिए। इसके लिए आपको कुछ पैसे देने पड़ सकते हैं लेकिन यह आपके सिस्टम के लिए अच्छा रहेगा।

एंटी वायरस को करें इंस्टॉल– आपको अपने सिस्टम में एंटी मैलवेयर या एंटी वायरस को इंस्टॉल कराना चाहिए और आप कोशिश करें की आप अपने सिस्टम के लिए ऑनलाइन फ्री एंटी वायरस डाउनलोड न करें बल्कि आप कुछ पैसे देकर एंटी वायरस को खरीदें और उसे ही इंस्टॉल करें। एंटी वायरस को समय-समय पर अपडेट करते रहें।

डाटा पर पासवर्ड लगाकर कर करे लॉक– अपने महत्वपूर्ण डाटा को पासवर्ड से लॉक करना चाहिए ताकि इसे चुराना या हैक करना आसान न हो। जो पासवर्ड आपने सेट किया हैं उसमें अंक, अक्षर और स्पेशल कैरेक्टर जरूर इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

फायरवॉल करें इंस्टॉल– आपको अपने पीसी में फायरवॉल इंस्टॉल करना चाहिए। फायरवॉल कंप्यूटर और इंटरनेट के बीच सुरक्षा दीवार की तरह काम करता है। इसे हमेशा ऑन ही रखना चाहिए।

Ad Blocker प्लगइन करें इंस्टॉल– आपको Ad Blocker प्लगइन को इंस्टॉल करना चाहिए जिससे आपको वायरस फैलाने वाले बुरे प्रकार के Ads नहीं शो होंगे और इससे आपकी डिवाइस सुरक्षित रहेगी।

उम्मीद है की जागरूक पर मैलवेयर क्या है और इससे कैसे बचा जा सकता है ये जानकारी पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद साबित हुई होगी।

जागरूक यूट्यूब चैनल


Spread the love