Home » आत्म विकास » मन को शांत कैसे रखें?

मन को शांत कैसे रखें?

आइये जानते हैं मन को शांत कैसे रखें। मन की चंचलता के बारे में हम सभी जानते हैं। ये हमारा मन ही होता है जो कभी खुश हो जाता है और कभी उदास। कभी हमारे कहे अनुसार चलता है तो कभी हमारे नियंत्रण से बहुत दूर चला जाता है।

हमारी बदली हुयी और भागती हुयी लाइफस्टाइल भी हमारे मन पर बहुत प्रभाव डालती है। इस तनाव भरी दिनचर्या में मन तनाव, निराशा और दबाव जैसी स्थितयों का अनुभव करने लगता है और अशांत हो जाता है।

मन के इस विचलन को अगर सही समय पर संतुलित नहीं किया जाये तो व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार भी हो सकता है। ऐसे में अपने मन की दशा सुधारने और उसे सही दिशा देने के लिए कौनसे प्रयास किये जाने चाहिए, ये जानना जरुरी है।

इसलिए आज हम आपको बताते हैं कि अपने अशांत मन को शांत बनाने के लिए आपको क्या-क्या प्रयास करने चाहिए। तो चलिए, जानते हैं मन को शांत करने के उपाय।

मन को शांत करने के उपाय

रोजाना व्यायाम करने की आदत डालें – अभी तक आपने सुना होगा कि शरीर को स्वस्थ रखने के लिए व्यायाम करना जरुरी होता है लेकिन ये व्यायाम ना केवल शरीर की सेहत को बेहतर बनाता है बल्कि मानसिक स्वास्थ्य का भी ख़याल रखता है यानी रोज व्यायाम करके आप अपने अशांत मन को शांत कर सकते हैं।

ध्यान रखियेगा कि ये बदलाव एक-दो दिन में नहीं आएगा लेकिन कुछ दिन के अभ्यास के बाद आप महसूस करेंगे कि आपका मन पहले की तुलना में बहुत शांत हो गया है।

READ  भावनाओं को काबू करने के सरल उपाय

गहरी सांस लें – मन को शांत करने के लिए अगर आप डीप ब्रीथिंग एक्सरसाइज करेंगे तो आपको जल्दी बेहतर परिणाम मिल सकेंगे क्योंकि गहरी सांसें लेने से मन शांत होने लगता है और बहुत राहत महसूस करता है इसलिए सुबह के शांत वातावरण में व्यायाम के साथ-साथ कुछ देर गहरी सांस लेने का अभ्यास भी जरूर करें।

मेडिटेशन करें – मन को शांत और स्थिर करने का एक सबसे अच्छा तरीका मेडिटेशन होता है इसलिए सुबह के समय शांत माहौल में, आरामदायक स्थिति में बैठकर सामने दिखने वाली किसी वस्तु या आकृति पर ध्यान केंद्रित करने का अभ्यास करिये।

ऐसा करने से आपका सारा ध्यान उस आकृति या वस्तु पर केंद्रित हो जाएगा और आपके मन में किसी तरह के नकारात्मक विचार नहीं आ सकेंगे।

इसके अलावा आप कुछ देर आँखें बंद करके, शांत स्थिति में बैठे और गहरी साँसें लें। ऐसा करने पर आपको मन के सभी विचार दिखाई देने लगेंगे जो नियमित अभ्यास करने से धीरे-धीरे कम होते जाएंगे।

इसका अर्थ होगा कि आपके मन में आने वाले विचारों की संख्या कम हो गयी है और उनमें से नकारात्मक विचार तो बहुत ही कम रह गए हैं और इस तरह मेडिटेशन आपके मन को शांत करने में बहुत मददगार साबित होगा इसलिए नियमित रूप से मेडिटेशन जरूर करें।

थोड़ा समय खुद के लिए निकालें – रोजाना के व्यस्त रूटीन में रहते हुए मन का अशांत होना स्वाभाविक है इसलिए अपने मन को शांत रखने के लिए आपको इसे खुश करना होगा और मन की ख़ुशी के लिए आप क्या-क्या कर सकते हैं?

READ  बुरी आदतों से कैसे बचें?

रोजाना सैर पर जा सकते हैं, कुछ दिन बाहर घूमने जा सकते हैं, खुलकर हंस सकते हैं और अपने जैसे लोगों की संगत में कुछ वक्त बिता सकते हैं।

अपना आहार भी सुधारें – आप अगर बहुत मिर्च-मसाले वाला तला-भुना खाना ज्यादा खाते हैं और फास्ट फूड का भी बहुत ज्यादा सेवन करते हैं तो इसका प्रभाव मन पर पड़ता है और मन उग्र और अशांत होने लगता है इसलिए आपको पौष्टिक और संतुलित आहार लेना चाहिए। इसके लिए आपको सिगरेट और शराब जैसे व्यसनों से दूर भी रहना होगा।

इसके अलावा अपने मन को शांत रखने के लिए आपको भरपूर नींद भी लेनी होगी।

स्वस्थ और खुशहाल जीवन के लिए शरीर और मन दोनों ही स्वस्थ होने जरुरी होते हैं लेकिन हम अक्सर शरीर की सेहत पर ही गौर कर पाते हैं और मन की अस्थिरता और अशांति को अनदेखा कर देते हैं लेकिन अब आप जान चुके हैं कि मन अशांत क्यों होता है और उसे शांत कैसे किया जा सकता है ताकि आप एक बेहतर जीवन का आनंद ले सकें इसलिए इन उपायों को जरूर आजमाएं और तन-मन से स्वस्थ बने रहें।

जागरूक टीम को उम्मीद है कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

जागरूक यूट्यूब चैनल