होम जागरूक मेडिटेशन करने के वैज्ञानिक कारण

मेडिटेशन करने के वैज्ञानिक कारण

आइये जानते हैं मेडिटेशन करने के वैज्ञानिक कारण। साधारणतः मेडिटेशन यानी ध्यान को अध्यात्म से जोड़कर देखा जाता है लेकिन इसके प्रभाव से विज्ञान भी अछूता नहीं रहा है। विज्ञान ने भी इस बात के प्रमाण दिए हैं की मेडिटेशन से कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं।

कई वैज्ञानिक शोधों में ये बात सामने आई है की नियमित रूप से मेडिटेशन करने से दिमाग का विकास होता है और याद्दाश्त भी बढ़ती है। इसके अलावा नियमित रूप से मेडिटेशन करने से हमारा शरीर कई बिमारियों से दूर रहता है।

तो आप भी स्वस्थ रहने के लिए नियमित रूप से मेडिटेशन करना शुरू करें। आइये जानते हैं मेडिटेशन करने के पीछे कुछ वैज्ञानिक कारण और इससे होने वाले स्वास्थ्य लाभों के बारे में।

मेडिटेशन करने के वैज्ञानिक कारण

सकारात्मक परिवर्तन – विज्ञान द्वारा किये गए कई शोधों में यह प्रमाणित हुआ है की मेडिटेशन करने से व्यक्तित्व का विकास होता है और सकारात्मक परिवर्तन आते हैं। कुछ शोधकर्ताओं ने मेडिटेशन पर शोध किया और बताया की मैडिटेशन के जरिये हमारे दिमाग को 3 चरणों में एकाग्रचित किया जा सकता है।

मेडिटेशन करने के फायदों पर शोध करने के लिए शोधकर्ताओं ने कुछ लोगों को 1 महीने तक नियमित रूप से हर रोज 30 मिनट तक मेडिटेशन कराया और 1 महीने बाद जब उन लोगों के दिमाग की क्रियाओं का मापदंड किया गया तो ये निष्कर्ष आया की उन लोगों के दिमाग और व्यवहार में काफी सकारात्मक परिवर्तन हुए।

तनाव से मुक्ति – यूँ तो सदियों से ये माना जाता रहा है की मेडिटेशन करने से दिमागी विकास होता है और इससे कई बड़ी बिमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है लेकिन अब विज्ञान भी इस बात को मानने लगा है।

इस बात के प्रमाण के लिए कुछ वैज्ञानिकों ने जब कुछ विद्यार्थियों पर शोध किया और उन्हें 1 महीने तक नियमित रूप से मेडिटेशन कराया तो निष्कर्ष के रूप में ये बात सामने आई की उन विद्यार्थियों का दिमागी विकास काफी तेजी से हुआ और उनके इसके प्रभाव से उनके दिमाग से ज्यादा संकेत मिलने शुरू हो गए।

विज्ञान ने अपने शोधों में पाया है की एकाग्रता में कमी, डिमेंशिया, अवसाद और सिजोफ्रेनिया जैसी समस्याओं से छुटकारा पाने में मेडिटेशन बेहद सहायक है।

इसके अलावा नियमित रूप से मेडिटेशन करने से तनाव से मुक्ति मिलती है क्योंकि मेडिटेशन करने पर शरीर से कोर्टिसोल नामक हार्मोंन का स्राव भरपूर होता है जो दिमाग शांत रखता है और तनाव मुक्त करता है।

रोगों से बचाव – एक शोध में यह बात भी सामने आई की मन और मस्तिष्क को ऊर्जावान बनाने में मेडिटेशन बेहद सहायक है जिससे शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं।

मेडिटेशन से शरीर में होने वाली नयी शक्ति के संचार से शरीर काफी स्वस्थ और तंदुरुस्त महसूस करता है। सिरदर्द और उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में मेडिटेशन एक बेहत जरिया साबित हुआ है।

नियमित रूप से मेडिटेशन करने से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जो कई गंभीर बिमारियों से लड़ने में सहायक बनती है।

शरीर को मजबूत बनाने के साथ साथ मेडिटेशन अकेलेपन को दूर करने में भी बेहद सहायक है खास कर बुजुर्गों में अकेलेपन की शिकायत होती है लेकिन नियमित रूप से मेडिटेशन करने से अकेलेपन का अहसास भी कम होता है और इससे एल्जाइमर, डायबिटीज जैसी गंभीर बिमारियों से लड़ने के लिए भी हमारा शरीर मजबूत बनता है।

उम्मीद है जागरूक पर मेडिटेशन करने के वैज्ञानिक कारण कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

नकारात्मक सोच से छुटकारा कैसे पाएं?

जागरूक यूट्यूब चैनल

202,357फैंसलाइक करें
4,236फॉलोवरफॉलो करें
496,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest posts.

Latest Posts

ओलंपियाड क्या है?

आइये जानते हैं ओलंपियाड क्या है। आप अपने आस-पास या फिर स्कूल में अपने साथियों को एजुकेशनल कॉम्पिटिशंस जैसी कुछ परीक्षाओं में अवॉर्ड्स और...