सरकारी नौकरी के बारे में सोच रहे हैं तो यह जरूर पढ़ें

हम सभी ने एक बात अपने जीवन में जरूर सुनी होगी कि सरकारी नौकरी बहुत ही लाभकारी होती है और इसे पाने के लिए हर व्यक्ति जद्दोजहद करता है। इसीलिए आज हम आपके सामने एक ऐसी पोस्ट लाए हैं जो उन लोगों को जरूर पढ़नी चाहिए जो सरकारी नौकरी के बारे में सोच रहे हैं।

क्या आप जानते हैं सरकारी नौकरी पक्की होती है या नहीं?

अगर आप भी यह मानकर बैठे हैं कि सरकारी नौकरी पक्की नौकरी होती है तो आपको बता दें कि अब सरकारी संगठन भी अनुबंध के तौर पर काम करते हैं जिसके अनुसार उम्मीदवारों की भर्ती योजना के खत्म होने तक ही रहती है। जैसे अभी हाल ही में UPSRTC में 100 से भी ज्यादा अनुबंध के तौर पर आवेदन आमंत्रित किए थे जिसके तहत एक निश्चित अवधि तक ही वह पोस्ट निकली हुई थी। तो अगर आप सरकारी नौकरी के बारे में सोच रहे हैं तो पूरी तरीके से निश्चित कर लें कि यह पूर्ण रूप से अनुबंधित है या काल अवधि के लिए ही है।

क्या सरकारी नौकरी में भी टारगेट्स मिलते हैं?

अगर आप यह सोच कर बैठे हैं कि आप सरकारी नौकरी में आराम कर सकते हैं तो भूल जाइए क्योंकि अब सरकारी अधिकारी जो काम से जी चुराते हैं उनके लिए सरकार ने दरवाजे बंद कर लिए हैं। अपना कर्तव्य सही रूप से निभाने के लिए और प्रमोशन के लिए उन सभी को अपने टारगेट्स अचीव करने पड़ते हैं जैसा कि निजी कंपनियों में होता है। तो अगर आप यह सोच कर बैठे हैं कि आप सरकारी नौकरी में आराम फरमाएंगे तो अब यह नहीं हो सकता।

क्या सरकारी नौकरी में बहुत अधिक वेतन मिलता है?

यह बात कई तुलनात्मक तरीकों से सही है कि सरकारी नौकरी में प्राइवेट नौकरी से ज्यादा वेतन मिलता है इसीलिए कई बार लोग सरकारी नौकरी सिर्फ इसी वजह से पाना चाहते हैं।

क्या सरकारी नौकरी सिर्फ 8 घंटे की ही होती है?

प्राइवेट कंपनियों में 9 से 12 घंटे तक काम लिया जाता है और जो लोग यह मानते हैं कि सरकारी नौकरी आरामदायक है तो उनको बता दें कि अब वहां पर भी 10 से 11 घंटे तक काम लिया जाता है। इसीलिए अब हम सभी को सरकारी नौकरी से जुड़ी आम अवधारणाओं से ऊपर उठ जाना चाहिए।

“धारा 144 क्या है और ये कब लागू की जाती है?”

Leave a Comment