Home » स्वास्थ्य » पैनडैमिक और एपिडेमिक में क्या अंतर है?

पैनडैमिक और एपिडेमिक में क्या अंतर है?

आइये जानते हैं पैनडैमिक और एपिडेमिक में क्या अंतर है (Pandemic aur Epidemic me kya antar hai)। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 114 देशों में फैल चुके कोरोना वायरस (corona virus) को आखिरकार महामारी (Global Pandemic) घोषित कर ही दिया है। चीन के वुहान (Wuhan) शहर से दिसंबर माह से शुरुआत हुई इस खतरनाक वायरस की चपेट में आज पूरी दुनिया है। धीरे-धीरे यह महामारी की तरह फ़ैलता ही जा रहा है जिसके चलते देश में कई बड़े फैसले लिए गए है स्कूल, कॉलेज, मॉल सब सरकार के आदेश के अनुसार 31 मार्च 2020 तक बंद कर दिए गए है।

सबसे बड़ी परेशानी की बात तो ये है की अभी तक इस वायरस से लड़ने का कोई इलाज नहीं मिला है। इस खतरनाक बीमारी को देखते हुए The World Health Organization (WHO) ने कोरोना वायरस (corona virus) को Global Pandemic (दुनिया भर में फैली महामारी) घोषित कर दिया गया है। इसी के साथ-साथ WHO ने अपनी इस घोषणा में सभी देशों को कोरोना वायरस (corona virus) से लड़ने के लिए और इससे निजात पाने के लिए सख्त से सख्त कदम उठाने को कहा है।

जिस तरह और जितनी तेजी से कोरोना वायरस पूरी दुनिया में फ़ैल रहा है इससे यह आशंका पहले से ही लगाई जा रही थी कि जल्द ही WHO इस खतरनाक वायरस को ग्लोबल पैनडैमिक (Global Pandemic) यानी महामारी घोषित कर सकता है। इससे पहले भी साल 2009 में H1N1 इंफ्लूएंजा को WHO द्वारा ग्लोबल पैनडैमिक घोषित किया गया था और आपको बता दें की इस महामारी के कारण दुनिया में करीब 400,000 से भी ज्यादा लोगों की जान ली थी।

इसके अलावा 2014-15 में इबोला (Ebola virus) नामक बीमारी को एपिडेमिक (Epidemic) घोषित किया गया था क्योंकि यह बीमारी केवल लाइबेरिया और उसके पश्चिम अफ्रीका के कुछ पड़ोसी देशों में ही फैली थी और इसका असर एक निश्चित एरिया में ही देखा गया था।

अब जो आपके मन में सवाल आ रहा है वो ये है की आखिर ये पैनडैमिक व एपिडेमिक क्या है और इन दोनों में क्या अंतर होता है? तो आइये आज जागरूक के माध्यम से बताते है आपको पैनडैमिक और एपिडेमिक के बारे में।

READ  एंजियोप्लास्टी सर्जरी क्या है?

जागरूक पर हमारी आज की इस पोस्ट में आप इन सभी टॉपिक के बारे में जानकारी हासिल करेंगे-

  • एपिडेमिक (Epidemic) क्या है? (Epidemic Kya Hai)
  • पैनडैमिक (Pandemic) क्या है? (Pandemic Kya Hai)
  • पैनडैमिक और एपिडेमिक में क्या अंतर है ? (Pandemic aur Epidemic me kya antar hai)
  • WHO ने कोरोना वायरस को Pandemic घोषित कैसे किया? (WHO ne corona virus ko Pandemic ghoshit kaise kiya)
  • WHO किस प्रकार तय करता है महामारी? (WHO kis prakar tay karta hai mahamari)

एपिडेमिक क्या है? (Epidemic kya hai)

अगर बात करें एपिडेमिक (Epidemic) की तो इसका भी अर्थ महामारी ही होता है लेकिन इसका तात्पर्य कुछ और होता है अथार्त किसी बीमारी को एपिडेमिक उसके फैलने के कारण ही घोषित किया जाता है, लेकिन ये ज्यादातर क्षेत्रीय या स्थानीय जनसंख्या के बीच ही होता है और इसका असर ज्यादा लोगों तक नहीं पहुंचता है।

अगर एपिडेमिक को साधारण भाषा में समझे तो वह बीमारी जिसका असर एक निश्चित सीमा या दायरे अथार्त क्षेत्रीय या स्थानीय जनसंख्या के बीच तक ही सीमित होता है उस बीमारी को एपिडेमिक घोषित किया जाता है। जैसे की 2014-15 में इबोला (Ebola virus) नामक बीमारी को एपिडेमिक घोषित किया गया था।

पैनडैमिक क्या है? (Pandemic kya hai)

पैनडैमिक (Pandemic) ऐसी संक्रामक महामारी को कहा जाता हैं, जो किसी एक स्थान या फिर एक देश से दूसरे कई देशों, महाद्वीपों यानि की दुनियाभर में फैल गयी है। WHO द्वारा किसी भी संक्रामक बीमारी को तब महामारी घोषित किया जाता है, जब कोई बीमारी किसी एक सीमा या देश को पार कर दूसरे देशों या महाद्वीपों में फैल जाता है।

जिस तरह से कोरोना वायरस का मामला है जो की दिसंबर महीने में चीन के वुहान शहर में सामने आया था जिसे इतनी बड़ी संक्रामक बीमारी और समस्या के तौर पर नहीं आंका गया था क्यूंकि ये उस समय सिर्फ एक शहर तक ही सिमित थी लेकिन धीरे-धीरे ये बीमारी चीन के दूसरे प्रांत में फैलनी शुरू हुई और धीरे-धीरे इसने अपने पैर अन्य कई दूसरे देशों में फ़ैलाने शुरू कर दिए।

READ  रात को सोने से पहले पानी पीने के फायदे

अब नौबत ये आई है की इस खतरनाक वायरस जिसे COVID-19 (Corona Virus) नाम दिया गया है ने दुनिया के करीब 114 देशों को अपनी चपेट में ले लिया है और अब यह वायरस एक महामारी बन चुका है।

अगर साधारण भाषा में समझे तो पैनडैमिक का अर्थ यह होता है महामारी अथार्त वह बीमारी जो एक देश से लोगों के जरिये अन्य दूसरे देशों और महाद्वीपों में फ़ैल जाए।

पैनडैमिक और एपिडेमिक में क्या अंतर है? (Pandemic aur Epidemic me kya antar hai)

अब बात करते है पैनडैमिक और एपिडेमिक के मध्य पाए जाने वाले अन्तर के बारे में तो आपको बता दें की वह बीमारी जो किसी इंसान की जरिये एक स्थान या देश से पूरी दुनिया में फैल जाये उसे पैनडेमिक (Pandemic) महामारी कहा जाता हैं। इसका उदाहरण अभी हाल में दुनियाभर में फ़ैल रहा कोरोना वायरस (corona virus) है जो चीन के वुहान शहर से लोगों के जरिये पूरे विश्व में फ़ैल चुका है।

जबकि बात करें एपिडेमिक (Epidemic) महामारी की तो यह एक देश, राज्य, क्षेत्र या सीमा तक ही सीमित होती है। इसका असर अन्य किसी और देशों में ना देखा जाये। इसका उदाहरण आप 2014-15 में फैले इबोला (Ebola) नामक वायरस से लगा सकते है जिसे एपिडेमिक महामारी घोषित किया गया था क्योंकि इस बीमारी का असर लाइबेरिया और उसके पश्चिम अफ्रीका के कुछ पड़ोसी देशों में ही देखा गया था।

WHO ने कोरोना वायरस को पैनडैमिक घोषित कैसे किया? (WHO ne Corona Virus ko Pandemic ghoshit kaise kiya)

अब आप सोच रहे होंगे की कोरोना वायरस (Corona Virus) इतना खतरनाक है और लगभग कई देश इस खतरनाक वायरस की चपेट में आ रहे है तो इससे महामारी घोषित करने में इतना समय कैसे लगा। शुरुआत में यह वायरस चीन के एक शहर में ही पाया गया था लेकिन इस वायरस का असर अन्य देशों में नहीं फैल रहा था।

कुछ देशों में इसके मामले सामने आए थे, जो कुछ हफ्तों में ठीक हो गए और इसके अलावा कोरोना वायरस के लक्षण ऐसे लोगों में दिखाई दे रहे थे, जिन्होंने कोरोना वायरस से संक्रमित देशों की यात्रा की थी। लेकिन जैसे-जैसे इसने अपने पैर पूरी दुनिया में फ़ैलाने शुरू किये तो WHO द्वारा इस वायरस को मार्च माह में ग्लोबल पैनडैमिक घोषित कर दिया गया।

READ  हीमोग्लोबिन ज्यादा होने के नुकसान

WHO किस प्रकार तय करता है महामारी? (WHO kis prakar tay karta hai mahamari)

किसी भी प्रकार की बीमारी को महामारी घोषित करने का फैसला सिर्फ और सिर्फ WHO को लेना होता है। इसके साथ-साथ यह भी ध्यान रखना होता है कि बीमारी को महामारी घोषित करने के बाद लोगों में कोई अनावश्यक खौफ या डर की स्थिति पैदा ना हो जाए।

किसी भी बीमारी को महामारी घोषित करने के लिए किसी भी प्रकार का कोई तय पैमाना नहीं होता है। इसके अलावा किसी बीमारी से होने वाली मौत या इन्फेक्शन या उससे प्रभावित देशों की संख्या के आधार पर उस बीमारी को महामारी घोषित नहीं कर सकते है। इसका फैसला सिर्फ और सिर्फ WHO द्वारा ही लिया जाता है की किस बीमारी को महामारी घोषित करना है और किस प्रकार करना है।

उम्मीद है जागरूक पर पैनडैमिक और एपिडेमिक में क्या अंतर है (Pandemic aur Epidemic me kya antar hai) कि ये जानकारी आपको पसंद आई होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

अधिक जानकारी के लिए ये भी देखें:

कोरोना अब महामारी, जानें क्या होती है महामारी और कैसे लेते हैं इसके बारे में फैसला

Leave a Comment