प्रदूषण रोकने के उपाय

आइये जानते हैं प्रदूषण रोकने के उपाय के बारे में। प्रदूषण जितना सुनने में यह शब्द हमें बिलकुल भी पसंद नहीं आता है बल्कि यह शब्द हमारी जीवन शैली में प्रति सेकंड में चार गुना फैलता जा रहा है। प्रदूषण स्वास्थ्य के लिए सबसे बड़ा खतरा बन गया है। हमारे भारत देश की राजधानी दिल्ली में तेज़ी से बढ़ते प्रदूषण के कारण आज वहां तमाम चीज़ों पर रोक लगाने की नौबत आ गई है।

हम भी अगर कोशिश करें तो अपनी तरफ से प्रदूषण रोकने के उपाय को अपना सकते हैं। आज हम आपको प्रदूषण को कम करने के कुछ उपाय साझा कर रहे हैं। आप उन्हें अपनी जीवन शैली में अपनाने की पूरी कोशिश कीजिए क्योंकि बढ़ता प्रदूषण हमारे जीवन को भयंकर बीमारियों से घेरने के लिए साबित जिम्मेदार हो सकता है।

भारत प्रदूषण के लिए कौन से नंबर पर आता है और भारत में कितना प्रदूषण है?

आजकल की अँधाधुंध विकास की वजह से हमें नया नया विकास प्रतिदिन देखने को मिल रहा है पर प्रदूषण भी बड़ी रफ़्तार से हमारे जीवन में दस्तक देने के लिए तैयार है, प्रदूषण भी लगातार तेजी से फैल रहा है|

प्रदूषण की वजह से होने वाली भयंकर बीमारियों से हमें प्रतिदिन जूझ रहें हैं। आपको बता दें की दुनिया में सबसे प्रदूषित शहर में भारत के 22 शहरों ने जगह बना ली है और देशों की बात करें तो भारत प्रदूषित देशों में तीसरे स्थान में आता है।

प्रदूषण किन कारणों से फैल रहा है और प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है?

पर्यावरण में प्रदूषण भ्रष्टाचार के जैसा ही मान सकते है जो समय के साथ साथ फैलता ही जाता है। भारत सरकार प्रदूषण को लेकर सजग है।

तभी सरकार प्रतिदिन इस विषय से लेकर प्रदूषण को कम करने के उपाय खोजने और उन पर काम करने का लगातार प्रयास कर रही है। अगर हमें मानें तो जितनी तेजी से विकास हो रहा है उतनी ही तेजी से प्रदूषण भी उसी रफ़्तार से आगे बढ़ता जा रहा है।

पर्यावरण में प्रदूषण के कारण

  • पर्यावरण में प्रदूषण के मुख्य कारण पेड़ों का कटना ही है।
  • जल प्रदूषण भी एक मुख्य समस्या बन गयी है क्योंकि ज्यादातर शहर में हजारों गटर हैं, सारे कूड़ा-करकट की वजह से जल प्रदूषित हो रहा है।
  • वाहनों से निकलता धुआँ और मशीनों से निकलता धुआँ में हमारे पर्यावरण प्रदूषण फैलाने का कारण है।

सरकार दिन प्रतिदिन प्रदूषण को रोकने के लिए उपाय खोज रही है, दिल्ली जो की प्रदूषण के लिए मुख्य स्थान रखता है वहां पर सरकार ओड इवन वाहन चलें और भी अधिक योजना बनाने का प्रयास कर रही है।

सरकार सभी शहरों को स्वच्छ रखने के लिए एकत्रित कूड़े को इधर उधर फेखनें की जगह घर घर कचरा गाड़ी को भेजने का प्रयास कर रही है ताकि लोग जागरूक बनें और कचरा को सड़क न फेकें।

प्रदूषण से हमारे स्वास्थ्य पर और बच्चों के स्वास्थ्य पर क्या फर्क पड़ सकता है?

प्रदूषण का स्तर दिन प्रति दिन घटने की जगह बढ़ता ही जा रहा है चाहे वह जल, ध्वनि, वायु प्रदूषण ही क्यों न हो। इससे हमारी सेहत के साथ साथ हमारे बच्चों की स्वास्थ्य पर भी काफी बुरा असर पड़ रहा है।

अगर हम देखें तो दुनिया में 18 साल से कम उम्र के लगभग 93 फीसदी बच्चे प्रदूषित हवा में सांस लेने परेशानी को महसूस करते है इससे उन्हें सांस के रोगों का सामना करना पड़ता है।

प्रदूषण रोकने के लिए हमें क्या करना चाहिए?

यहाँ हम आपको प्रदूषण को रोकने के उपायों को साझा कर रहें हैं, आप उन्हें अपने प्रतिदिन अपनी जीवन शैली में अपनाकर अपनी जीवन शैली में स्वस्थ रहने में सहयोग कर सकते हैं।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की दुनिया का प्रत्येक मनुष्य अगर स्वयं से संकल्प लें की वह अपने जीवन शैली में प्रदूषण कम करने की कोशिश करेगा तो हम बहुत हद तक प्रदूषण को कम करने में सफल हो भी सकते हैं। चलिए जानते है की प्रदूषण रोकने के उपाय क्या है।

1. आप प्लास्टिक की थैली का उपयोग न करें क्योंकि प्लास्टिक में खतरनाक केमिकल पाएं जाते है जो की हमारे पर्यावरण को प्रदूषित करते है। प्लास्टिक की थैली की जगह आप कपड़ें के थैले का उपयोग कर सकते हैं।

2. पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाने के लिए आप अपने घर में पेड़ों को लगाएं और सौर ऊर्जा का उपयोग करें।

3. हमारे पर्यावरण को बचाने के लिए आप जल बर्बाद न करें क्योंकि जल एक अमूल्य वरदान है हम सबके लिए। हमें इसे फालतू में बर्बाद नहीं करना चाहिए, जितनी जरूरत है उतना ही उपयोग करिए।

4. अपने घर के गीला और सूखा कचरे को ऐसे ही जगह जगह फैला कर न रखिये और आप कचरा गाड़ी में डालिये और अपने आस पास के वातावरण को साफ़ और स्वच्छ रखिए।

5. ज्यादा वॉल्यूम में संगीत न सुनें इससे आप ध्वनि प्रदूषण के साथ खुद को भी नुक्सान पहुचानें का काम करते है, यह हमारे कानों को नुकसान पहुँचता है।

प्रदूषण को कम करने में घर में पौधे लगाने से क्या होगा?

आप प्रदूषण को कम करने के लिए अपने घर में कुछ पौधे लगा सकते है जो की आपको एक ताजा अहसास के साथ स्वस्थ भी रख सकते हैं।

एलोवेरा – यह पौधा हवा से फॉर्मेल्डिहाइड और बेंजीन को साफ करने में मदद करता है।

मनी प्लांट – आप मनी प्लांट को भी खरीद सकते है और इस मनी प्लांट को आप घर के भीतर भी रख सकते हैं। यह घर के भीतर मौजूद प्रदूषण को दूर करने में बहुत ही सहयोग करता है।

पीस लिली प्लांट – पीस लिली प्लांट को भी आप अपने घर में लगा सकते हैं यह हवा में मौजूद हानिकारक कणों और बीमारी पैदा करने वाले कणों को दूर करता है|

एरेका पाम – एरेका पाम हवा से फार्मेल्डिहाइड, कार्बन डाइऑक्साइड और कार्बन मोनोऑक्साइड जैसी जहरीली गैसों को दूर करता है।

आप प्रदूषण को रोकने के लिए क्या विचार रखते हैं, हमें कमेंट करके बताइए और हमारी पोस्ट को पढ़ने के लिए धन्यवाद, जागरूक रहिए।

उम्मीद है जागरूक पर कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

नकारात्मक सोच से छुटकारा कैसे पाएं?

जागरूक यूट्यूब चैनल