होम विज्ञान पृथ्वी पर गुरुत्वाकर्षण बल क्यों है?

पृथ्वी पर गुरुत्वाकर्षण बल क्यों है?

आज हम आपको विज्ञान की एक और पहेली पृथ्वी पर गुरुत्वाकर्षण बल क्यों है ये बतायेंगे। आप सभी के दिमाग में कभी ना कभी तो ये विचार या सवाल आया ही होगा की आखिर पृथ्वी पर गुरुत्वाकर्षण बल क्यों है औऱ क्या कारण है इसके होने का? आज हम जागरूक के माध्यम से इसी जानकारी को आप तक पहुंचाने की कोशिश करेंगे।

क्या है गुरुत्वाकर्षण बल?

आपने कही ना कही तो पढ़ा होगा की पृथ्वी पर गुरुत्वाकर्षण बल पाया जाता है जिसके कारण ही हर वह वस्तु जिसे हम ऊपर की औऱ फेंकते या उछालते है तो वह वापस जमीन पर ही आकर गिरती है यह सब गुरुत्वाकर्षण बल के कारण ही होता है। अगर गुरुत्वाकर्षण बल नहीं हो तो वह वस्तु हवा में ही रह जाएगी।

आपको जानकार आश्चर्य होगा की यह गुरुत्वाकर्षण बल हर जगह समान नहीं पाया जाता। इसी गुरुत्वाकर्षण बल के कारण वैज्ञानिक बहुत कुछ पता लगा लेते है। सबसे पहले इस गुरुत्वाकर्षण बल की खोज “न्यूटन” नामक वैज्ञानिक ने सेब के माध्यम से की थी।

कहते है वह एक बार न्यूटन सेब के पेड़ के नीचे बैठे थे तो एक सेब उनके पास आकर गिरा जिसके कारण उन्होने सोचा की ये सेब नीचे ही क्यों गिरा ऊपर की और क्यों नहीं गया और इन्ही सब से उन्होंने गुरुत्वाकर्षण बल की खोज की और इसीलिए सबसे पहले गुरुत्वाकर्षण बल की खोज का श्रेय भी इन्ही को जाता है।

किसी भी दो वस्तु या कण या दो पदार्थो के मध्य पाया जाने वाला बल जो उनको एक दूसरे की तरफ आकर्षित करता है वह गुरुत्वाकर्षण बल होता है। गुरुत्वाकर्षण बल एक ऐसा बल है जो ना केवल वस्तुओँ व पृथ्वी के बीच मौजूद है बल्कि यह इस ब्रह्मांड में मौजूद हर पदार्थ में है।

आपने कभी ना कभी तो सोचा होगा की हम भी हवा में उड़े और कई बार तो बचपन में या छोटे बच्चों को उड़ने की कोशिश करते देखा भी होगा जिसके लिए वह उछलते है, छलांग लगाते है लेकिन उड़ नहीं पाते, पता है क्यों की जमीन पर मौजूद गुरुत्वाकर्षण बल उन्हें नीचे की और खींच लेता है जिसके कारण वह जमीन पर आकर गिर जाते है या ये कह सकते है की उड़ नहीं पाते।

ऐसा इसलिए होता है क्योकि जिस वस्तु का द्रव्यमान अधिक होता है उस वस्तु का गुरुत्वाकर्षण बल भी अधिक होता है और पृथ्वी का द्रव्यमान व्यक्ति से बहुत अधिक होता है और इसी कारण पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण बल भी अधिक होता है।

आपने कई किताबों में पढ़ा होगा की पृथ्वी सूर्य के चारों ओर चक्कर लगाती है पर कभी आपने ये सोचा की ऐसा क्या कारण है कि पृथ्वी ही सूर्य के चारो ओर चक्कर क्यों लगाती है इन सब का एक ही कारण है की सूर्य का द्रव्यमान पृथ्वी से कई गुणा ज्यादा है और इसलिए पृथ्वी को सूर्य अपनी तरफ खींचता है और पृथ्वी सूर्य के चारो ओर घूमती है या यह कह सकते है की सूर्य के चक्कर लगाती है।

सूर्य का गुरुत्वाकर्षण बल हम महसूस नहीं कर सकते क्योंकि सूर्य हमसे बहुत अधिक दुरी पर है। हम उसी वस्तु या पदार्थ का गुरुत्वाकर्षण बल महसूस कर सकते है जो हमारे बहुत नजदीक है। इसी कारण हमें पृथ्वी पर मौजूद गुरुत्वाकर्षण बल का एहसास होता है क्यों की हम पृथ्वी के बहुत नजदीक है और यही कारण है कि अंतरिक्ष में वस्तु हो या इंसान हर चीज उड़ने लगती है क्यों की अंतरिक्ष में गुरुत्वाकर्षण बल नहीं होता है।

गुरुत्वाकर्षण बल क्यों जरुरी है हमारे लिए?

अब आपको बताते हैं की हमारे लिए आखिर क्यों जरुरी है गुरुत्वाकर्षण बल और अगर ये नहीं हो तो क्या होगा? अगर पृथ्वी से गुरुत्वाकर्षण बल ख़त्म हो जायेगा तो जीवन यापन भी खत्म हो जायेगा। क्योकि गुरुत्वाकर्षण बल के कारण ही पृथ्वी पर हवा, पानी और प्रकाश मौजूद है।

अगर गुरुत्वाकर्षण बल नहीं होगा तो ये सब भी नहीं होगा और सब अंतरिक्ष के जैसे यहां भी हवा में उड़ेंगे। पृथ्वी पर गुरुत्वाकर्षण बल नहीं होने के कारण सब कुछ नष्ट हो जायेगा पृथ्वी पर कुछ भी मौजूद नहीं होगा। गुरुत्वाकर्षण बल के कारण ही हम लोग आसानी से पृथ्वी पर हवा, पानी और प्रकाश का उपयोग कर सकते है।

गुरुत्वाकर्षण बल निकालने का सूत्र

कैसे पता चलता हमारे वैज्ञानिकों को की किस जगह या किस ग्रह पर कितना गुरुत्वाकर्षण बल है। ये सब वह सूत्र के द्वारा पता लगाते है-

F = Gm1m2/r2

इस सूत्र में G से तात्पर्य है की यह एक समानुपाती नियतांक है इसका सभी पदार्थो के लिए मान सदैव समान रहता है। इसे गुरुत्वीय स्थिरांक भी कहा जाता है।

m1 व m2 से तात्पर्य है की दो वस्तुओं का द्रव्यमान और r से तात्पर्य है दोनों वस्तुओं के मध्य की दूरी।

आशा करते है की हम जागरूक के माध्यम से आपको यह समझाने में सहायक हुए होंगे की पृथ्वी पर गुरुत्वाकर्षण क्यों है। आगे भी आपके बीच इसी प्रकार की रोचक जानकारी जागरूक के माध्यम से लाते रहेंगे।

उम्मीद है जागरूक पर पृथ्वी पर गुरुत्वाकर्षण बल क्यों है कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

नकारात्मक सोच से छुटकारा कैसे पाएं?

जागरूक यूट्यूब चैनल