Home » स्वास्थ्य » शरीर में सूजन आने के मुख्य कारण

शरीर में सूजन आने के मुख्य कारण

आइये जानते हैं शरीर में सूजन आने के मुख्य कारण (sharir me sujan ka karan)। शरीर के किसी भी अंग में अचानक आने वाली सूजन किसी बीमारी का संकेत भी हो सकती है और शरीर में किसी तत्व की अधिकता या कमी की ओर इशारा भी कर सकती है।

इस सूजन को ओडिमा कहा जाता है जो शरीर से पानी की पर्याप्त मात्रा बाहर ना निकल पाने की स्थिति में होती है और आज के समय में 20 से 30% लोग इस बीमारी से ग्रस्त हैं।

ओडिमा जब तक अस्थायी होता है तब तक सेहत के लिए नुकसानदेह नहीं होता लेकिन अगर ये सूजन एक सप्ताह से ज़्यादा समय तक बनी रहे तो इसकी गंभीरता का अंदाज़ा लगाना ज़रूरी हो जाता है जिसके लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लेना आवश्यक होता है। साथ ही ये भी ज़रूरी हो जाता है कि आप इस बीमारी के कारणों को जानें।

शरीर में सूजन आने के मुख्य कारण (sharir me sujan ka karan)

हार्मोन्स में होने वाले बदलाव – कुछ महिलाओं के शरीर में मासिक धर्म के कुछ दिन पहले सूजन आने लगती है जिसका कारण होता है एस्ट्रोजन हार्मोन की मात्रा का बढ़ जाना। जिसके चलते किडनी पानी की ज़्यादा मात्रा को शरीर में ही रोकने लगती है जो सूजन का कारण बनती है।

बीमारियां भी हो सकती हैं कारण – दिल से जुड़ी बीमारियां या किडनी से सम्बंधित रोग होने की स्थिति में भी शरीर में सूजन आने लगती है क्योंकि किडनी सोडियम को संचित कर लेती है।

नमक की ज़्यादा मात्रा का सेवन – शरीर में तरल पदार्थों का संतुलन बनाये रखने के लिए सोडियम और पोटैशियम की भूमिका अहम होती है लेकिन अपने भोजन में नमक लेकर हम सोडियम की ज़रूरत तो पूरी कर लेते हैं लेकिन पोटैशियम की बहुत कम मात्रा का ही सेवन कर पाते हैं। नमक का ज़्यादा सेवन ब्लड प्रेशर को भी बढ़ा देता है और पानी को शरीर में ही रोके रखने के लिए भी उत्तरदायी होता है।

मोटापा – मोटापे की समस्या अपने साथ ढेरों बीमारियां लेकर चलती है और ओडिमा भी उन्हीं में से एक बीमारी है। जिन महिलाओं को मोटापे की समस्या होती है उनमें ये बीमारी होने का ज़्यादा खतरा रहता है क्योंकि मोटापे के कारण एस्ट्रोजन हार्मोन का लेवल बढ़ जाता है जो शरीर में सूजन आने का कारण बनता है।

तनाव – लगातार तनाव में रहने से शरीर में सूजन भी आ सकती है क्योंकि तनाव में बने रहने की स्थिति में दिमाग पाचन क्रिया को रोक देता है और तनाव पैदा करने वाले हार्मोन पेट तक होने वाले रक्त के प्रवाह को भी कम कर देते हैं जिसके कारण पेट में सूजन महसूस होने लगती है।

पोटैशियम की कमी – शरीर की मांसपेशियों और तंत्रिकाओं के कार्य को नियंत्रित करने में सोडियम के साथ पोटैशियम का भी महत्व होता है। कोशिकाओं से पानी निकालने के अलावा शरीर में पानी का संतुलन बनाये रखने का कार्य पोटैशियम करता है। लेकिन आहार में पोटैशियम की आवश्यक मात्रा नहीं लेने पर शरीर में इसकी कमी हो जाने से सूजन आने लगती है।

हो सकता है कि अभी तक शरीर में सूजन को आप अनदेखा करते आये हो लेकिन अब आप जान चुके हैं कि लम्बे समय तक रहने वाली सूजन या ओडिमा बीमारी किसी गंभीर रोग की शुरुआत भी हो सकती है।

इसके अलावा आपने इस सूजन के कारणों को भी जान लिया है इसलिए अपने आहार में सोडियम की मात्रा को संतुलित करने के अलावा पोटैशियम युक्त पदार्थ जैसे अखरोट, बादाम, मूंगफली का सेवन करिये।

तनाव को अपने आप से दूर रखने के लिए नियमित व्यायाम करने की आदत भी डाल लीजिये ताकि शरीर से पानी की अधिक मात्रा पसीने के रूप में निकलने लगे और तनाव भी दूर हो जाये और चुस्ती और सक्रियता बनी रहे।

उम्मीद है जागरूक पर sharir me sujan ka karan कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

नकारात्मक सोच से छुटकारा कैसे पाएं?

जागरूक यूट्यूब चैनल