होम स्वास्थ्य साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षण

साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षण

आइये जानते हैं साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षण। आजकल की अनियमित और निष्क्रिय दिनचर्या और तनावग्रस्त मानसिक स्थिति ने हार्ट अटैक जैसी गंभीर स्थिति को भी सामान्य और आम बात बना दिया है क्योंकि आये दिन हार्ट अटैक आने की ख़बरें सुनाई देती हैं।

हार्ट अटैक आने पर सीने में तेज दर्द और जलन होती है लेकिन साइलेंट हार्ट अटैक में ऐसा नहीं होता है। ये साइलेंट तरीके से ही आता है और इसका पता लगाना संभव नहीं हो पाता इसलिए ये सामान्य हार्ट अटैक से ज्यादा खतरनाक होता है।

हार्ट अटैक के मामलों में लगभग 25% मामले साइलेंट हार्ट अटैक के ही होते हैं। ऐसे में ये जानना बेहतर होगा कि साइलेंट हार्ट अटैक के क्या लक्षण होते हैं ताकि इन्हें समय रहते समझकर, तुरंत कोई उपचार किया जा सके। तो चलिए, आज जानते हैं साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षणों के बारे में।

साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षण

जब हार्ट तक ब्लड पहुँचाने वाली धमनियों में वसा के थक्के जम जाते हैं तो ब्लड सर्कुलेशन रुक जाता है और हार्ट की मांसपेशियों में खून की गति रुकने से हार्ट अटैक आ जाता है। समय रहते अगर ब्लड सर्कुलेशन ठीक नहीं हो पाए तो हार्ट अटैक से मृत्यु भी हो जाती है।

आमतौर पर हार्ट अटैक आने की सम्भावना 50 साल की उम्र के बाद ज्यादा होती है लेकिन डायबिटीज, हाई कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियां रहने और स्मोकिंग और अल्कोहल की लत के चलते 40 साल की उम्र में भी ये ख़तरा बढ़ जाता है।

साइलेंट हार्ट अटैक ज्यादातर खतरनाक इसलिए माना जाता है क्योंकि इसमें व्यक्ति को ये अंदाज़ा भी नहीं हो पाता कि उसे साइलेंट हार्ट अटैक आया है क्योंकि इसके कुछ लक्षण बहुत सामान्य भी होते हैं जैसे-

  • सीने में हल्का दर्द होना
  • अचानक कमजोरी महसूस होना
  • गले और जबड़े में तकलीफ होना
  • साँस लेने में दिक्कत आना
  • पेट में गैस बनना या पेट सही ना रहना
  • हार्ट में हल्के से झटके जैसा महसूस होना
  • अचानक तेज गर्मी लगना और पसीने आना
  • अचनाक मतली और उल्टी होने लगना

साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षण इतने सामान्य होते हैं, ये जानकर आप भी हैरान हो गए होंगे लेकिन समय रहते इसे पहचानने के लिए इन बातों पर जरूर गौर करें कि अगर ये लक्षण 15 मिनट से ज्यादा तक महसूस हों और धीरे-धीरे बढ़ते जाएँ तो बिना देरी किये तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

हार्ट अटैक आने की स्थिति में संभल पाना हर मामले में संभव नहीं हो पाता है इसलिए बेहतर तो यही होगा कि हर साल बॉडी चेकअप करवाया जाए ताकि आपकी सेहत से जुड़ी हर जानकारी आपके पास हो और किसी तरह की कोई भी साइलेंट बीमारी आप पर हमला ना कर सके।

उम्मीद है जागरूक पर साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षण कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest posts.

Latest Posts

फलों के वानस्पतिक नाम क्या है?

आइये जानते हैं फलों के वानस्पतिक नाम क्या है। वैज्ञानिक नामकरण के लिए अंतरराष्ट्रीय कोड का पालन करने के साथ पेड़-पौधों को वैज्ञानिक नाम...