Home » जागरूक » क्या सोशल मीडिया आपको बीमार बना रहा है?

क्या सोशल मीडिया आपको बीमार बना रहा है?

सोशल मीडिया…इस टर्म को आप बहुत अच्छे से जानते होंगे और शायद इस सोशल मीडिया (Social Media) से आपका भी गहरा जुड़ाव हो गया हो। इस ऑनलाइन वर्ल्ड में एक अलग और अनोखी दुनिया जैसा बन गया है सोशल मीडिया, जिस पर हम सब अपनी-अपनी बातें खुलकर बता पा रहे हैं और पूरी दुनिया से अपने विचार शेयर करने के लिए स्वतंत्र भी हैं। ऐसे में इस सोशल मीडिया ने लोगों को आपस में इस तरह जोड़ दिया है कि बिना पहचान के भी लोग आपस में जुड़ गए हैं। यहाँ तक तो सोशल मीडिया ने बहुत अच्छा काम किया है लेकिन ये तो आपने भी सुना होगा ना कि अति हर चीज़ की बुरी होती है। कुछ ऐसा ही सोशल मीडिया के साथ भी हुआ है।

हमने इस ऑनलाइन प्लेटफॉर्म को इतना ज्यादा महत्त्व दे दिया है कि आज हर एज ग्रुप के लोगों के लिए सबसे जरुरी और सबसे ख़ास दोस्त, परिवार और साथी की जगह इस सोशल मीडिया ने ही ले ली है। ऐसे में सोशल मीडिया के बहुत से साइड इफेक्ट्स भी सामने आने लगे हैं जिन्हें अगर अभी भी समझा नहीं गया और संभाला नहीं गया तो हमारी मेन्टल और फिजिकल हेल्थ ख़तरे में पड़ सकती है इसलिए सिर्फ सोशल मीडिया के फायदे गिनते और गिनाते रहने की बजाये हमें इससे होने वाले नुकसानों पर भी गौर करना चाहिए।

आइये, सोशल मीडिया के साइड इफेक्ट्स जानते हैं:-

  • सोशल मीडिया का जरुरत से ज्यादा इस्तेमाल करने वाले लोग दिमागी बीमारियों के शिकार हो रहे हैं और ऐसे लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है क्योंकि उन्हें सोशल मीडिया की लत लग चुकी है। कोई भी लत आसानी से नहीं छोड़ी जा सकती, ये आप भी जानते हैं।
  • सोशल मीडिया पर ज्यादा एक्टिव रहने वाले लोग डिप्रेशन के शिकार हो रहे हैं।
  • सोशल मीडिया पर ज्यादा समय एक्टिव रहने से नींद पूरी नहीं हो पाती है।
  • नींद पूरी ना होने के कारण लोगों में चिड़चिड़ापन रहने लगता है।
  • सोशल मीडिया पर ज्यादा समय बिताने वाली यंग जनरेशन कुछ नया और क्रिएटिव नहीं सीख पाती है।
  • सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले लोग भावनात्मक रुप से कमजोर और अकेला अनुभव करते हैं।
  • ऐसे लोग अपने नजदीकी संबंधों से दूरी बना लेते हैं जिससे उनके रिश्तों पर ग़लत असर पड़ता है।
  • सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले लोग शारीरिक श्रम करने से बचते हैं और ऐसा करने से उनकी हेल्थ पर बुरा असर पड़ता है।
  • ऐसे लोग दोस्तों से मिलने और सोशल फंक्शन्स में जाने से कतराने लगते हैं और सिर्फ सोशल मीडिया को ही अपना रियल वर्ल्ड समझने लगते हैं।

दोस्तों, सोशल मीडिया हमारे लिए बहुत मददगार साबित होता रहा है और आज भी होता है लेकिन जरुरत से ज्यादा इस्तेमाल करने की वजह से ये हमारे लिए एक बड़ी समस्या भी बन चुका है।

आप खुद ही सोचिये कि अगर आप नींद पूरी नहीं लेते हैं, घर से बाहर नहीं निकलते हैं, परिवार और दोस्तों से बातचीत नहीं करते हैं और कुछ नया और क्रिएटिव सीखना नहीं चाहते हैं तो आपकी लाइफ कैसी होगी?

ऐसी लाइफ में मेन्टल और फिजिकल प्रॉब्लम्स (Mental and Physical problems) के साथ सोसाइटी रिलेटेड प्रॉब्लम्स (Society related problems)  भी आने लगेंगी और आप इनमें से किसी भी समस्या का हल नहीं निकाल पाएंगे इसलिए बेहतर यही होगा कि सोशल मीडिया का उतना ही सीमित इस्तेमाल किया जाये, जितनी जरुरत हो।

जागरुक टीम को उम्मीद है कि ये जानकारी आपको सोशल मीडिया से होने वाले ख़तरे के प्रति सचेत कर पायी होगी और आपके लिए उपयोगी भी साबित होगी।

सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान