Home » शिक्षा » सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान

सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान

आइये जानते हैं सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान (social media ke fayde aur nuksan)। पिछले कुछ समय में सोशल मीडिया का प्रचलन इतना ज़्यादा बढ़ा है कि हमने सोशल होने के लिए इसी तरीके को सबसे ज़्यादा पसंद करना शुरू कर दिया है। अब आमने-सामने बैठकर बात करने या मिलने की जरुरत ही नहीं लगती।

सब सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हुए ही अपनी बात कह भी देते हैं और दूसरों की सुन भी लेते हैं। ऐसे में क्यों ना आज, बात करें सोशल मीडिया के फायदे की और क्यों ना इससे होने वाले कुछ नुकसानों की ओर भी गौर किया जाए। तो चलिए, आज जानते हैं सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान के बारे में।

सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान (social media ke fayde aur nuksan)

इस मीडिया के शुरुआती दौर में, ये सिर्फ यूथ तक ही सीमित था लेकिन फिर देखते-देखते इस सोशल मीडिया ने हर ऐज ग्रुप को अपना मुरीद बनाना शुरू कर दिया और अब हालात ये हैं कि यूथ के अलावा बच्चे और बड़े भी इसका हिस्सा बन चुके हैं।

टेक्नोलॉजी ऐसी ही होती है, जो धीरे-धीरे अपने लिए रास्ते बनाती जाती है और हर शख्स तक अपनी पकड़ भी और टेक्नोलॉजी का जो रूप समझने में आसान होता है उसे हर उम्र के लोग जल्दी से अपना भी लेते हैं। ऐसा ही कुछ सोशल मीडिया के बारे में भी कहा जा सकता है।

सोशल मीडिया का एक अहम चेहरा है फेसबुक, जिस पर अपने ऐसे पुराने दोस्त को ढूंढा जा सकता है जिससे बरसों तक मुलाकात ना हुयी हो और हमारी रोज़ाना की जरुरत बन चुके फेसबुक और व्हाट्सएप्प के ज़रिये अपने दोस्तों से तुरंत जुड़ा जा सकता है, ग्रुप बनाकर बातें शेयर की जा सकती है और मैसेज को बड़ी तेज़ी से पहुँचाया जा सकता है।

वहीँ लिंकडीन जैसी सोशल साइट जॉब दिलाने का एक बेहतर सोर्स बन गयी है। लिंकडीन और कंपनी की वेबसाइटों का उपयोग करके 89% से भी ज़्यादा नए लोगों को नौकरी दी जाती है। ट्वीटर के ज़रिए देश-दुनिया से जुड़े हर स्तर के लोगों की बातें, विचार और सुझावों को बहुत ही कम शब्दों के ज़रिये जानने का मौका मिलता है।

बिजनेस को बढ़ाने में भी सोशल मीडिया काफी मददगार साबित हो रहा है और किसी सामाजिक मसले पर लोगों को जागरूक करने और उनकी राय लेने के लिए कैम्पेन चलाना भी काफी आसान हो गया है।

किसी ज़रूरी ख़बर को बहुत तेज़ी से, बहुत से लोगों तक पहुंचाने का एकदम तेज़ और आसान तरीका बन गया है सोशल मीडिया जिसका इस्तेमाल हर व्यक्ति अपनी जरुरत, शौक और सहूलियत के अनुसार करता है।

इस सोशल मीडिया ने इस बड़ी-सी दुनिया तक पहुँच को आसान बना दिया है, तभी तो दुनिया के किसी भी कोने में मौजूद किसी ख़ास जगह, चीज़ या घटनाओं के बारे में हर शख्स जानकारी रखने लगा है। ये कहा जा सकता है कि सोशल मीडिया के ज़रिये पूरी दुनिया पास आ गयी है।

लेकिन इसी सोशल मीडिया के ज़रिये दूरियां भी बहुत आयी हैं और इससे होने वाले नुकसानों में ये एक बड़ा नुकसान हैं क्योंकि दुनिया से जुड़ने की धुन में हमने खुद को, अपने आसपास के माहौल और लोगों से काटना शुरू कर दिया और दुनिया से नज़दीकी बढ़ती गयी और अपनों से दूरी भी।

इसके अलावा सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते-करते कब इसकी लत लग जाती है, इसका अंदाज़ा भी नहीं हो पाता। इस पर ज़्यादा एक्टिव रहने से एकाग्रता कम होने लगती है और दिमाग थकान और स्ट्रेस महसूस करने लगता है।

सोशल मीडिया पर फर्जी अकाउंट के झांसे में आकर आप मुश्किल में भी पड़ सकते हैं। यहाँ आपकी पहचान और पर्सनल डिटेल्स को कब चोरी कर लिया जाए और उसका ग़लत इस्तेमाल करके आपको मुसीबत में डाल दिया जाए, इसका आप अंदाज़ा भी नहीं लगा सकते। इसके अलावा साइबर धोखाधड़ी, हैकिंग और वायरस के हमलों का ख़तरा भी बहुत ज़्यादा बढ़ गया है।

सोशल मीडिया भले ही हमारे लिए देश-दुनिया की ढ़ेरों जानकारियां लाता है लेकिन इसी सोशल मीडिया की लत ने हमें एक सीमित दायरे में कैद कर दिया है जहाँ हम अकेले हैं और हमारे साथ सिर्फ सोशल मीडिया से जुड़ी साइट्स हैं। हमने बाहर निकलना, लोगों से मिलना, एक्टिव रहना, सब कुछ बंद कर दिया है। ऐसे में आप ही बताइये कि ये फायदा है या नुकसान?

सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान

लेकिन इसका दोष सोशल मीडिया को दिया जाना सही नहीं होगा क्योंकि इसे तो हमारी सुविधा के लिए बनाया गया था और अगर इसका इस्तेमाल सीमित कर दिया जाए तो आज भी ये हमारे लिए बहुत फायदेमंद और मददगार ही साबित होगा।

अगर आपको सोशल मीडिया की लत है तो ये समझना ज़रूरी है कि टेक्नोलॉजी हमारी सुविधा के लिए होती है, ना की हमें दुविधा में डालने के लिए। इसलिए इसके इस्तेमाल को सीमित कर लीजिये ताकि आपकी लाइफ संतुलित हो सके।

इसके अलावा अपनी असल ज़िन्दगी को फिर से बेहतर बनाइये और इसके लिए आपको अपनों से फिर से जुड़ना होगा और सोशल मीडिया के बारे में ये सोचना छोड़ना होगा कि – तुम्हीं हो बंधु सखा तुम्हीं हो!

तभी आप अपने असली दोस्तों से फिर से जुड़ सकेंगे और तभी ये सोशल मीडिया भी आपकी मदद एक दोस्त की तरह करने लगेगा क्योंकि आपको इसका सही इस्तेमाल करना जो आ जाएगा।

उम्मीद है जागरूक पर सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान (social media ke fayde aur nuksan) कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

नकारात्मक सोच से छुटकारा कैसे पाएं?

जागरूक यूट्यूब चैनल

Spread the love

Leave a Comment