Home » विज्ञान » स्टेथोस्कोप का आविष्कार किसने किया?

स्टेथोस्कोप का आविष्कार किसने किया?

आइये जानते हैं स्टेथोस्कोप का आविष्कार किसने किया (stethoscope ka avishkar kisne kiya)। डॉक्टर के हाथ में आपने स्टेथोस्कोप जरुर देखा होगा और ये उपकरण कैसे काम करता है, ये भी आप जानते ही होंगे लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि स्टेथोस्कोप की खोज कैसे हुयी?

ऐसे में क्यों ना इस साधारण से दिखने वाले विशेष उपकरण के बारे में ही बात की जाये। तो चलिए, आज आपको स्टेथोस्कोप और उसके आविष्कार से जुड़ी जानकारी देते हैं।

स्टेथोस्कोप एक ऐसा वैज्ञानिक उपकरण है जिसका इस्तेमाल डॉक्टर हार्टबीट सुनने के लिए करते हैं। इस उपकरण से फेफड़ों की आवाज भी सुनी जा सकती है।

इसके आविष्कार के पीछे एक डॉक्टर की दुविधा की कहानी है जिसने ऐसे महत्वपूर्ण उपकरण की खोज कर दी। आइये, आपको इस आविष्कार के बारे में बताते हैं।

स्टेथोस्कोप का आविष्कार किसने किया? (stethoscope ka avishkar kisne kiya)

Rene Hyacinthe Laennec ने स्टेथोस्कोप का आविष्कार 1816 में किया था। इस आविष्कार से पहले किसी मरीज की जाँच करने के लिए डॉक्टर को मरीज के चेस्ट के पास कान लगाकर उसकी हार्टबीट सुननी पड़ती थी लेकिन जब रेने लीनेक द्वारा हार्ट प्रॉब्लम से ग्रस्त एक महिला की जाँच की गयी तो उन्हें बहुत असहज महसूस हुआ।

रेने लीनेक ने इस असहजता को दूर करने के लिए कागज को मोड़कर एक ट्यूब बना ली और उसके जरिये महिला की हार्ट बीट सुनी।

इस साधारण से प्रयोग के सफल होने के बाद रेने लीनेक एक बेहतर उपकरण के निर्माण के लिए प्रेरित हुए और उन्होंने लकड़ी के कई खोखले मॉडल बनाये जिसके एक सिरे पर माइक्रोफोन लगा था और दूसरे सिरे पर इयरपीस। इस तरह रेने लीनेक की इस खोज को स्टेथोस्कोप नाम दिया गया।

ये नाम दिए जाने का कारण ये था कि स्टेथोस्कोप ग्रीक भाषा का एक शब्द है जिसमें stethos यानी चेस्ट होता है और scopos का अर्थ परीक्षण करना होता है। इस तरह चेस्ट का परीक्षण करने वाला उपकरण स्टेथोस्कोप कहलाया।

इस आविष्कार ने एक बार फिर उस कहावत को सही साबित किया है कि आवश्यकता आविष्कार की जननी होती है क्योंकि अगर डॉ. रेने लीनेक जाँच के दौरान असहज महसूस ना करते तो शायद आज भी जाँच का वही पुराना तरीका अपनाया जा रहा होता।

स्टेथोस्कोप का आविष्कार किसने किया

उम्मीद है जागरूक पर स्टेथोस्कोप का आविष्कार किसने किया (stethoscope ka avishkar kisne kiya) कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल