Home » टेक्नोलोजी » यूनिकोड क्या है?

यूनिकोड क्या है?

यूनिकोड के बारे में शायद आप इतना जरूर जानते हों कि ये कंप्यूटर से सम्बंधित होता है लेकिन ये यूनिकोड क्या होता है और इसका क्या फायदा और महत्त्व होता है, ये जानना भी जरुरी है इसलिए आज आपको यूनिकोड के बारे में बताते हैं।

कंप्यूटर का सम्बन्ध मुख्य रुप से नंबरों से होता है। कम्प्यूटर हर अक्षर और वर्ण के लिए एक नंबर निर्धारित करता है। यूनिकोड के आविष्कार से पहले, ऐसे नंबर देने के लिए बहुत सी संकेत लिपि प्रणालियाँ थी लेकिन ये लिपि प्रणालियाँ भी आपस में विरोधी हुआ करती थी जिसके कारण यूनिकोड के आविष्कार की जरूरत महसूस हुयी ताकि कंप्यूटर के इस कार्य को आसानी से किया जा सके।

यूनिकोड हर अक्षर के लिए एक विशेष नंबर प्रदान करता है, चाहे कोई भी कम्प्यूटर प्लेटफॉर्म, प्रोग्राम या कोई भी लैंग्वेज हो। यूनिकोड को बहुआयामी उपकरणों और वेबसाइटों में शामिल करने से बहुत कम खर्चा होता है। यूनिकोड से एक ऐसा सॉफ्टवेयर प्रोडक्ट या वेबसाइट मिल जाती है जिसे री-इंजीनियरिंग के बिना अलग-अलग प्लेटफॉर्म, लैंग्वेज और देशों में उपयोग किया जा सकता है। इसमें डेटा को बिना किसी रुकावट के बहुत – सी प्रणालियों से होकर ले जाया जा सकता है।

यूनिकोड स्टैण्डर्ड को एपल, एच.पी., माइक्रोसॉफ्ट, ऑरेकल, आई.बी.एम., जस्ट सिस्टम, साईबेस, सैप, सन, यूनिसिस जैसी बहुत – सी कंपनियों ने अपनाया है।

एक्स.एम.एल, जावा, एकमा स्क्रिप्ट (जावास्क्रिप्ट), एल.डी.ए.पी., कोर्बा 3.0, डब्ल्यू.एम.एल जैसे आधुनिक मानदंडों के लिए यूनिकोड की जरुरत होती है और ये आई.एस.ओ/आई.ई.सी. 10646 को लागू करने का आधिकारिक तरीका भी है।

यूनिकोड की विशेषताएं:-

  • ये कैरेक्टर्स को एक कोड देता है।
  • ये दुनिया की सभी लिपियों से सभी संकेतों के लिए एक अलग कोड बिंदु उपलब्ध कराता है।
  • बाएं से दाएं लिखी जाने वाली लिपियों के अलावा इसमें दाएं से बाएं लिखी जाने वाली लिपियों जैसे अरबी और हिब्रू को भी शामिल किया गया है।
  • यूनिकोड एक कोड सारणी है। इन लिपियों को पढ़ने और लिखने के लिए इनपुट मैथड एडिटर और फोन्ट फाइलें जरुरी होती हैं।
READ  फोन की बैटरी क्यों फटती है?

यूनिकोड का महत्त्व:-

  • यूनिकोड की मदद से एक ही डॉक्यूमेंट में अनेक भाषाओं के टेक्स्ट लिखे जा सकते हैं।
  • किसी भी भाषा का टेक्स्ट पूरी दुनिया में बिना करप्ट हुए आसानी से चल जाता है।
  • किसी सॉफ्टवेयर प्रोडक्ट का एक ही एडिशन पूरी दुनिया में चलाया जा सकता है।
  • टेक्स्ट को केवल एक निश्चित तरीके से प्रोसेस करने की जरुरत पड़ती है जिससे खर्च कम होता है।

यूनिकोड में इतनी विशेषताएं होने के बावजूद, कुछ कमियां भी हैं जैसे- यूनिकोड, आस्की और अन्य कैरेक्टर कोडों की अपेक्षा ज्यादा मेमोरी लेता है और कितनी ज्यादा मेमोरी इस्तेमाल होगी, ये यूनिकोड के प्रकार पर निर्भर करता है।

दोस्तों, यूनिकोड से जुड़ी ये जानकारी अब आपके पास भी है और जागरुक टीम को उम्मीद है कि ये जानकारी आपको पसंद भी आयी होगी और आपके लिए उपयोगी भी साबित होगी।

ऑनलाइन बिजनेस शुरू करने से पहले इन 10 बातों का ध्यान रखें

अधिक जानकारी के लिए ये भी देखें:

यूनिकोड

Leave a Comment