रेल की पटरियों के इर्द-गिर्द पत्थर क्यों पड़े होते हैं?

आइये जानते हैं रेल की पटरियों के इर्द-गिर्द पत्थर क्यों पड़े होते हैं। कई ऐसी चीजें होती हैं जिन्हें हम देखकर भी अनदेखा कर देते हैं या हम देखते हैं लेकिन उनके महत्व से अनजान होते हैं। दरअसल हम सभी ने रेल में कई बार सफर किया है लेकिन अगर आपने कभी गौर किया हो तो रेल की पटरियों के आस पास पत्थर पड़े होते हैं, क्या कभी आपने सोचा है कि पटरियों के आस पास ये पत्थर क्यों पड़े होते हैं? क्या इनका कोई ख़ास उद्देश्य है?

अगर आपने अब तक इस बात पर गौर नहीं किया तो शायद अब आपके मन में इस सवाल का उत्तर जानने की जिज्ञासा जरूर हो रही होगी की आखिर इसके पीछे की असली वजह क्या है? तो चलिए आज हम आपके इसका जवाब बताते हैं और सरल शब्दों में समझाते हैं की क्यों रेल की पटरियों के आस पास पत्थर रखे जाते हैं।

रेल की पटरियों के इर्द-गिर्द पत्थर क्यों पड़े होते हैं?

दरअसल जब ट्रेन पटरियों पर चलती है तो पटरियों में कम्पन्न पैदा होता है और इस कारण पटरियों के फैलने की सम्भावना बढ़ जाती है। मौसम के बदलाव के समय भी पटरियों के फैलने की संभावना होती है इसलिए पटरियों के इर्द-गिर्द नुकीले पैने पत्थर डाले जाते हैं जिससे कंपन कम हो और पटरियों के इर्द-गिर्द जंगली घास या पेड़ पौधे ना लगे।

पटरियों के नीचे लकड़ी की प्लेट लगाने का दूसरा कारण ये भी है की जब ट्रेन चलती है तो सारा भार पटरियों की बजाय लकड़ी के ऊपर आ जाता है और आस पास पत्थर होने के कारण इसको काफी बल मिलता है जिससे यह फिसलती भी नहीं है।

दोस्तों, उम्मीद है कि रेल की पटरियों के इर्द-गिर्द पत्थर क्यों पड़े होते हैं ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

पीने के पानी का टीडीएस कितना होना चाहिए?

जागरूक यूट्यूब चैनल