Home » रोचक तथ्य » दुनिया की 5 सबसे कठिन भाषाएं

दुनिया की 5 सबसे कठिन भाषाएं

पूरे विश्व में ना जाने कितनी भाषाएं बोली जाती हैं इसका सटीक अनुमान लगा पाना बहुत मुश्किल है। लेकिन आज हम आपको एक अध्ययन के अनुसार यह बताने जा रहे हैं कि विश्व की सबसे कठिन भाषाएं कौन सी है जिनको बोलने में अच्छे-अच्छों को परेशानी अनुभव होती है। तो चलिए इन सबसे कठिन भाषाओं के बारे में विस्तारपूर्वक जानते हैं।

चाइनीस – चाइनीस भाषा दुनिया की सबसे कठिन भाषाओं में से एक है। इसको समझने से ज्यादा बोलना भी कठिन है। इस भाषा को लिखने में भी बहुत प्रयास की आवश्यकता है अन्यथा आप इसको सीख नहीं सकते। इसके बावजूद भी चीन की सबसे अधिक जनसंख्या होने के कारण चाइनीस भाषा सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा है।

हिंदी – आप सभी लोग इस बात को जानकर हैरान हो जायेंगे कि हिंदी भाषा भी सबसे कठिन भाषाओं में से एक है। अंग्रेजी भाषा के कई शब्द भी हिंदी भाषा से निकाले गए हैं और हिंदी दुनिया की पांचवी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है। लेकिन इसको बोलना और लिखना विदेशियों के लिए कठिन है।

अरबी – जब भी बात खूबसूरत भाषाओं की होती है तो उस में अरबी भाषा का भी जिक्र होता है। मुख्य तौर पर फनकार इस भाषा को अपनी लेखनी में उल्लेखित करते हैं। लेकिन इस भाषा को पढ़ना और बोलना बहुत ज्यादा मुश्किल है। यह दुनिया की चौथी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है।

रूसी – इस भाषा को बोलना और पढ़ना बहुत ज्यादा कठिन है। आप लिखी हुई रूसी भाषा को उस तरीके से नहीं पढ़ सकते इसको बोलने का और लिखने का तरीका बिलकुल अलग है पूरी दुनिया में करीबन 171 मिलियन लोग इस भाषा को बोलते हैं।

जापानी – यह माना जाता है कि जापानी भाषा दुनिया की नोवी सबसे पसंद की जाने वाली भाषा है। लेकिन आपको बता दें कि कई बार ऐसा भी होता है कि जापानी खुद अपनी भाषा को पढ़ने में गलती कर जाते हैं। इसी वजह से यह दुनिया की सबसे कठिन भाषाओं में से एक है और इसे सीखना बच्चों का खेल नहीं है।

“हिंदी भाषा से जुड़े बेहद रोचक तथ्य”

Leave a Comment

error: Content is protected !!